June 21, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

‘‘यास’’ झारखंड के इलाके से बाहर, बारिश जारी आपदा प्रबंधन मंत्री ने प्रभावित क्षेत्रों में खुद राहत कार्य चलाया

रांची:- चक्रवात ‘‘यास’’ के झारखंड में प्रवेश करने के साथ ही कमजोर पड़ चुका था और और यह झारखंड के इलाकों को पार कर बिहार की सीमा में प्रवेश कर चुका है, परंतु इसका असर अब भी राज्य के मध्य और उत्तरी इलाकों मेंदेखा जा रहा है। ‘‘यास’’ के कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों मेंबारिश का सिलसिला जारी है। वहीं राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता ने खुद पूर्वी सिंहभूम के प्रभावित इलाकों में गुरुवार देर रात तक राहत कार्य चलाकर लोगों को सहायता मुहैय्या करायी।
रांची स्थित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग से मिली अनुसार इस समय चक्रवात झारखंड और बिहार के मैदानी इलाकों में उत्तर दिशा की ओर बढ़ रहा यास तूफान कमजोर होकर निम्न दबाव के क्षेत्र में बदल गया है। मौसम विभाग के अनुसार आज झारखंड के उत्तरी तथा मध्य भागों में बारिश की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग के अनुसार राज्य के उत्तरी जिले रांची, लोहरदगा, गुमला, चतरा, कोडरमा, लातेहार और पलामू साथ मे पाकुड़, साहेबगंज और दुमका जिले में भी हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना जतायी है।
झारखंड में तूफान का खतरा टल गया, लेकिन विभिन्न हिस्सों में लगातार हो रही बारिश से राज्य के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी है। नदियों के किनारे बसे लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया है। जमशेदपुर तूफान से नुकसान तो कम हुआ है, लेकिन भारी वर्षा से स्वर्णरेखा और खरकाई नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है, जिससे लगभग एक हजार घरों में पानी घुस गया है। एडीआरएफ की टीम ने लगभग एक सौ लोगों को रेस्क्यू कर उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने गुरुवार देर कल देर रात खुद प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और नुकसान का आकलन किया। इस दौरान उन्होंने प्रभावित परिवारों के लिए खाद्य सामग्री और बच्चों को दूध उपलब्ध कराने का निर्देश प्रशासन को दिया।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: