अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

वैक्सीन के प्रबंधन एवम् भंडारण में ई -विन प्रणाली के उपयोग के लिए कार्यशाला आयोजित

किशनगंज06 जुलाई:- किशनगंज सदर अस्पताल में वैक्सीन के प्रबंधन एवम् भंडारण में ई -विन प्रणाली के उपयोग के लिए कार्यशाला आयोजित हुई जिसमें कोल्ड चेन हैंडलर्स को प्रशिक्षण मिला। सिविल सर्जन डॉ. श्रीनंदन ने कहा कि सरकार के निर्देश के आलोक में किशनगंज सहित सूबे के सभी जिलों में नियमित टीकाकरण के सभी वैक्सीन एवम् सिरिंज के उत्तम प्रबंधन में भंडारण एवम् वितरण को सुनिश्चित करने के लिए ई-विन प्रणाली का उपयोग किया जा रहा है। ई-विन यानी इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क प्रणाली वैक्सीन की गुणवत्ता बनाए रखने में सबसे महत्त्वूर्ण भूमिका निभाती है।
उन्होनें कहा कि ई-विन खासतौर पर वैक्सीन वितरण के लिए बनाई गई तकनीक है। इसकी मदद से इस बात पर नजर रखी है कि कितनी वैक्सीन स्टॉक में है। स्मार्टफोन पर काम करने वाली ये तकनीक साल 2015 में लॉन्च की गई थी। इससे इस बात पर ट्रैक रखा जाता है कि कि कोल्ड चेन में वैक्सीन का सही ढंग से रखरखाव हो सके और वितरण के दौरान कोई समस्या न हो। यहां बता दें कि वैक्सीन के स्टॉक को सुरक्षित रखने के लिए तापमान-नियंत्रित भंडारण की जरूरत होती है। हर टीके को रखने की एक निश्चित अवधि होती है, और इस दौरान भी उसे एक खास तापमान पर रखना होता है। अगर इसमें कमी या कोई असावधानी हुई तो टीका अपना असर खो देता हैं।इस प्रणाली के एडवांस एडिशन को कोविन पोर्टल से संबद्ध किया जाएगा वही ई-विन प्रणाली के बदलाव के मद्देनजर नियमित टीकाकरण एवम् कोविड वैक्सीन के रख रखाव व प्रबंधन के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
यूएनडीपी के भीसीसीएम् की अहमद ने कोल्ड चेन हैंडलर्स को कार्यशाला में बताया कि सभी कोल्ड चेन उपकरण आईएलआर, डीप फ्रीजर, कोल्ड बॉक्स, वैक्सीन कैरियर, आइस पैक, थर्मामीटर, आदि का उपयोग कैसे करना है। उन्होंने बताया जिले में सभी सीचसी, पीएचसी व जिला मुख्यालय पर कुल 18 कोल्ड चेन पॉइंट हैं । वैक्सीन के रखरखाव व सही तापमान की निगरानी के लिए आईएलआर में टेंपरेचर लॉगर लगा है, जिनके जरिए ऑनलाइन तापमान की निगरानी की जाती है। ऑनलाइन सिस्टम के माध्यम से वैक्सीन के तापमान, स्टॉक, वेस्टेज आदि पर हर समय ऑनलाइन निगरानी की जा रही। इससे कोल्ड चेन मैनेजमेंट सहित अन्य जानकारियां भी आसानी से मिल रही हैं। वैक्सीन से संबंधित रिपोर्टिंग आदि के बारे में बारीकी से बताया। सिस्टम में रहकर काम करने से टीकाकरण कार्यक्रम संचालित करने में सुविधा होगी। वर्तमान समय में कोविड-19 एवम् नियमित टीकाकरण कार्यक्रम को देखते हुए बर्बादी कम किया जाना जरूरी है। इसके लिए सभी को नई तकनीक से अपडेट होना होगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिले के सभी कोल्ड चेन हैंडलर ,जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, यूएनडीपी के भी सीसीएम् जकी अहमद, पाथ के मो आदिल एवम् अन्य पदाधिकारी एवम् कर्मी उपस्थित रहे।

संवाददाता : सुबोध

%d bloggers like this: