April 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कुटीर उद्योग को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से जमुनियांटांड़ गांव का उपायुक्त ने किया निरीक्षण

देवघर:- उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा पंचायत ग्वालबदिया के जमुनियांटांड़ गांव का निरीक्षण कर लघु कुटीर उद्योग व स्वयं सहायता समूह की दीदियों द्वारा बांस के माध्यम से बनाये जा रहे विभिन्न सामानों व कार्यशैली की वास्तुस्थिति का जायजा लिया। इस दौरान लघु-कुटीर उद्योग व स्वयं सहायता समूह की दीदियों से उपायुक्त ने मुलाकात कर उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों व काम करने में आने वाली समस्याओं से अवगत हुए। साथ हीं दीदियों को बांस से बनने वाले विभिन्न सामानों को बनाने हेतु प्रेरित किया।
इसके अलावा उपायुक्त ने गांव में साफ-सफाई व शौचालय के उपयोग की स्थिति से अवगत हुए। साथ हीं दीदियों मेहनत व छोटे-छोटे स्तर पर बांस से बने सामग्रियों की सराहना करते हुए कहा कि आप सभी का यह प्रयास आपके गांव व पंचायत को एक नयी पहचान दिलाने का काम कर रही है। इसके अलावे निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त ने दीदियों को संबोधित करते हुए कहा कि मंदिर प्रांगण को थर्मोकॉल मुक्त क्षेत्र बनाया गया है। साथ हीं आगामी 10 अप्रेल शहरी क्षेत्र को प्लास्टिक मुक्त बनाने की शुरूआत जिला प्रशासन द्वारा की जायेगी। ऐसे में आप सभी के साहयोग से थर्मोकॉल व प्लास्टिक के जगह बांस के बने टोकरी, डलिया, सूप, दोना आदि का उपयोग बड़ जायेगा जिसके बाद आप सबों को जिले में ही बेहतर बाजार भी जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध करा दिया जायेगा। आज आप सबों के कार्य करने के जजबे को देखकर यह कहा जा सकता है कि महिलाएं न सिर्फ स्वरोजगार के माध्यम से स्वाबलंबी बन अपने परिवार का भरन-पोषण भी कर रही है। इसके साथ ही अपनी मेहनत के जरीये अन्य महिलाओं के प्रेरणा स्त्रोत बन रही है।
उपायुक्त से बातचीत के क्रम में स्वयं सहायता समूह की दीदियों द्वारा बतलाया गया कि वे लोग घर के काम-काज के बाद खाली बैठी रहती थी। खाली वक्त में कोई काम नहीं रहता था। लेकिन बांस से बने विभिन्न प्रकार के सामग्रियों आदि के कार्यों को अपनाने के बाद न सिर्फ बेकार समय व्यस्तता के बीच गुजरता है, बल्कि अच्छी आमदनी भी होती है। घर-परिवार खुशहाल है। बच्चों की पढ़ाई व रहन-सहन में काफी बदलाव आया है। पहले एक आदमी कमाता था उसी से गुजर चलता था, लेकिन अब दो लोगों की कमाई हो रही है।
इसके अलावे उपायुक्त ने निरीक्षण के क्रम में जेएसएलपीएस की टीम को निदेशित किया कि स्वयं सहायता समूह की दीदियों को सशक्त और आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में और भी बेहतर कार्य योजना तैयार करें, ताकि सभी समूह की दीदियों को बेहतर विकल्प दिया जा सके।
निरीक्षण के क्रम में सखी मंडल की दीदियों से बातचीत करते हुए उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा सभी को जानकारी दी गयी कि कोरोनाकाल में लोगों की समस्याओं के समाधन हेतु हर सोमवार को 11ः00 बजे से टॉक टू डीसी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। ऐसे में आप सभी मेरा आग्रह होगा कि अपने नजदीकी सीएससी केन्द्र के माध्यम से जुड़कर अपनी समस्याओं व शिकायतों को मेरे समक्ष रखें, ताकि उनका निराकरण किया जा सके।
बैठक के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि जिले के कुटीर उद्योग से जुड़े कारीगरों का आर्टिजन कार्ड निर्गत करें, ताकि उन्हें इसका लाभ मिल सके और जिससे इनकी सही पहचान हो कि संबंधित व्यक्ति किसी खास क्षेत्र के कारीगर हैं। इसके अलावे उपायुक्त ने कहा कि हमें जिला में रोजगार के अधिक से अधिक अवसर सृजित करने हैं। इसके लिए जिला स्तर पर लघु एवं कुटीर उद्योगों का जाल बिछाना होगा। अधिकारी टीम बनाएं और गहन विचार मंथन करें, कि किस प्रकार से यह कार्य संभव हो।
इस दौरान उपरोक्त के अलावे जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार, डीपीएम जेएसएलपीएस श्री प्रकाश रंजन, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी आदि उपस्थित थे।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: