अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दो सितंबर के बाद मौसम में बदलाव होगा, मानसून फिर से होगा सक्रिय


रांची:- राजधानी में आसमान में मध्यम दर्जे के बादल छाए हुए हैं। सुबह कई इलाकों में हल्की बारिश हुई। हल्की हवा भी चल रही है। मौसम विभाग के अनुसार राज्य में अभी दक्षिण-पूर्वी हवा चल रही है। इसके कारण अगले दो दिनों तक राजधानी रांची समेत राज्य के लगभग सभी जिलों में कहीं-कहीं हल्की बारिश रिकॉर्ड की जाएगी। दो सितंबर के बाद राज्य में मौसम में बदलाव आने की संभावना है। इसके बाद राज्य में एक बार फिर से मानसून सक्रिय हो जाएगा। इससे विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना है। रांची के मौसम पूवार्नुमान में बताया गया है कि आज दिन में हल्के से मध्यम दर्जे के बादल छाए रहेंगे। दिन में कई बार हल्के दर्जे की बारिश अलग-अलग हिस्सों में रुक-रुककर होती रहेगी। मौसम वैज्ञानिक अभिषेक आंनद ने बताया कि दक्षिणी छत्तीसगढ़ में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। वर्तमान में इसका फैलाव विशाखापत्तनम तक देखने को मिल रहा है। इस कम दबाव के क्षेत्र से ही होकर अभी मानसून का टर्फ लाइन गुजर रहा है। ऐसे में इसका असर राज्य में एक से दो दिनों में देखने को मिल सकता है। इसके कारण राज्य के कुछ हिस्सों में बेहतर बारिश दर्ज की जाएगी। इस सिनौप्टिक फीचर के कारण ही राज्य में मॉनसून एक बार फिर से सक्रिय होगा। उन्होंने बताया कि एक जून से 31 अगस्त तक राज्य में औसत 812 मिमी बारिश अपेक्षित होती है। मगर इस वर्ष ये 779 मिमी है। वहीं, इस मॉनसून बारिश का वितरण भी असमान्य रहा है। इससे लोहरदगा में जहां 54 प्रतिशत तक ज्यादा बारिश हुई है। वहीं गढ़वा, चतरा, गोड्डा, गुमला, पाकुर, सरायकेला-खरसावां और सिमडेगा में 38 प्रतिशत तक कम बारिश रिकॉर्ड की गयी है। हालांकि, अभी मानसून विड्रावल में अभी वक्त है। ऐसे में इन जिलों में भी बेहतर बारिश की उम्मीद की जा रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में मॉनसून की स्थिति कमजोर रही। राज्य में कहीं-कहीं मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गयी। राज्य में सबसे ज्यादा बारिश बोकारो के तेनूघाट में 31 मिमी बारिश दर्ज की गयी। वहीं सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान गोड्डा में 35.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। जबकि, चाईबासा में 22.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

%d bloggers like this: