अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों के साथ आयोजित किया वर्चुअल कार्यशाला

मेदिनीनगर:- झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद विद्यार्थियों के सामजिक एवं भावनात्मक विकास को केंद्र में रखते हुए राज्य के सभी सरकारी विद्यालयों में सम्पूर्णा कन्सोर्शियम के सहयोग से प्रोजेक्ट सम्पूर्णा चला रही है। शुरुआत में पांच जिलाओं दृ पूर्वी सिंहभूम, पलामू, चतरा, गिरिडीह एवं दुमका- में गहनता से शुरू हुई यह परियोजना अब पूरे राज्य के सरकारी विद्यालयों में चलेगी।
इसी क्रम में झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद (जे.इ.पी.सी) के निदेशक डा. शैलेश कुमार चौरसिया के मार्गदर्शन में वर्चुअल माध्यम से आज सभी जिलों के शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों का प्रोजेक्ट को लेकर उन्मुखीकरण सह कार्यशाला आयोजित की गयी जिसमे मुख्य रूप से सभी प्रमंडल एवं जिला से क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सम्मिलित हुए। इनके अतिरिक्त सभी प्रखंडों से प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी ने भाग लिया. कार्यक्रम का समन्वयन जे.इ.पी.सी के गुणवत्ता शिक्षा प्रभारी डा. अभिनव कुमार ने किया एवं विभिन्न सत्रों का संचालन सम्पूर्णा कन्सोर्शियम के विशेषज्ञों के द्वारा किया गया।
दो घंटे की इस कार्यशाला में मुख्य रूप से प्रोजेक्ट सम्पूर्णा के तकनीकी पहलू, सामाजिक एवं भावनात्मक विकास की अवधारणा एवं प्रोजेक्ट को लेकर आगामी कार्ययोजनाआओं पर विस्तृत चर्चा एवं गतिविधियाँ की गयी। कार्यक्रम के दौरान परियोजना निदेशक डा. शैलेश कुमार चौरसिया ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में भी सामाजिक एवं भावनात्मक शिक्षण पर जोर दिया गया है। उन्होंने बताया कि बदलते समय में बच्चों के सर्वांगीण विकास की कल्पना में हमे बुनियादी साक्षरता से आगे जाने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि हर त्रासदी नए आविष्कार का भी अवसर देती है उसी प्रकार कोविड ने भी शिक्षण अधिगम प्रक्रिया को पुनः परिभाषित करने का अवसर दिया है और प्रोजेक्ट सम्पूर्णा की सफलता इस प्रयास में अहम कड़ी होगी।
पलामू से जिला शिक्षा पदाधिकारी, ज़िला शिक्षा अधीक्षक, अतिरिक्त कार्यक्रम पदाधिकारी, जेंडर समन्यक, सभी प्रखंड के प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी और संपूर्णा कार्यक्रम सह पिरामल फाउंडेशन के जिला प्रभारी निलेश शर्मा भी उपस्थित भी वेबिनार में शामिल हुए।

%d bloggers like this: