June 21, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

महिला थानेदार की संदेहास्पद मौत पर ग्रामीणों में दिखा आक्रोश, अंतिम संस्कार

रांची:- साहेबगंज जिले की महिला थानेदार रूपा तिर्की का पार्थिव शरीर बुधवार की सुबह 4 बजे रातू के तिलता स्थित नया मकान पहुंचा। 9 बजे हेहल मनुटोली स्थित पैतृक आवास ले जाया गया। शव के यहां पहुंचते ही ग्रामीण उनकी संदेहास्पद मौत पर उबल पड़े। मौके पर शव देखते ही परिजन सहित ग्रामीण फफक कर रो पड़े। 11 बजे गांव के श्मशान में सरना धर्म विधि-विधान से मृतका का अंतिम संस्कार किया गया। हजारों लोगों ने रूपा को अश्रुपूर्ण बिदाई दी। उनकी आकस्मिक मौत से गांव में मातमी सन्नाटा है। मालूम हो कि सोमवार की सुबह रूपा का शव उनके ारकारी आवास के पंखे में लटका मिला था। वह 2018 बैच की सब इंस्पेक्टर थीं। शवयात्रा में राज्य सभा सांसद समीर उरांव, मांडर विधायक बंधु तिर्की, प्रमुख सुरेश मुंडा, उप प्रमुख महमुद अंसारी, जिप सदस्य अमर उरांव, मुखिया बिक्रम उरांव व सरपंच सरोज तिग्गा आदि सैकड़ों लोग शामिल थे।
वहीं मृतका की मां और बहन बार-बार बेहोश होने से कई बार यहां अफरा-तफरी मच गयी। बेसुध हालत में वह रूपा की पुरानी यादों को ताजा कर विलाप कर रही थी। परिजन राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और पुलिस प्रमुख नीरज कुमार सिन्हा से दोषियों को फांसी की सजा दिलाये जाने की मांग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें न्याय की मिलने की उम्मीद है।
इधर, मृतका रूपा की संदेहास्पद मौत के लिए विभाग के सह कर्मियों को लोग कोष रहे थे। परिजन और ग्रामीणों का आरोप है, कि रूपा ने खुदकुशी नहीं की है। बल्कि उसकी हत्या की गयी है। साक्ष्य छिपाने की नीयत से आरोपियों ने उन्हें फांसी पर लटका दिया। ताकि, उनकी मौत को आत्म हत्या का रंग दिया जा सके। उन्होंने मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: