अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अलवर के युवा कलाकार विक्की गुर्जर ने हरियाणा फ़िल्म इंडस्ट्री में कमाया नाम

अलवर:- जिले के भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र स्थित सैदपुर गांव के युवा कलाकार विक्की गुर्जर हरियाणा फ़िल्म इंडस्ट्री में नाम कमा रहा है। जिससे अलवर जिले का नाम हरियाणा में भी गूंज रहा है। हालांकि हरियाणा में घर-घर में कलाकार पैदा हो रहे हैं। जिस कारण देश में हरियाणवी गाने कुछ सालों से जोरशोर से चल रहे हैं। बॉलीवुड से ज्यादा अब लोग हरियाणा गानों को सुनना पसंद करते हैं। भिवाड़ी के युवा कलाकार विक्की गुर्जर ने सन 2017 में हरियाणा इंडस्ट्री में कदम रखा। उन्होंने पहला हरियाणवी गाना जवानी ताले में मुख्य भूमिका निभाई। इसके बाद से अब तक वह करीब 10 गानों में मुख्य भूमिका में हरियाणा के कई कलाकारों के साथ काम कर चुके है।
जवानी ताले में … गाने से हुई शुरुआत
विक्की ने बताया कि जवानी ताले में उनका पहला हरयाणवी गाना है। जिसमें वह अपने गुरु संजय वर्मा के साथ नजर आ रहे हैं। इस गाने के बाद उन्हें लोगों से अच्छा रेस्पांस मिला। इसके बाद उन्होंने ठाड़े लाड़, एक मुलाकात, गुर्जर के शौक 2, लहू जलावे आदि एक के बाद एक कई गानों में मुख्य भूमिका निभाई। इसके साथ ही हवाबाजी आशकी और कई कॉमेडी वेबसिरिज उनके निर्देशन में बनी है।

कौन है विक्की गुर्जर

भिवाड़ी के सैदपुर गांव में विक्की गुर्जर का जन्म हुआ। इनके पिता का नाम जसवंत सिंह है। वह बताते हैं कि उनके परिवार में कोई फ़िल्म इंडस्ट्री में नही है। उनकी पर्सनल्टी देख उनके फेसबुक दोस्त संजय वर्मा ने हरयाणवी गाने में रोल करने का ऑफर दिया। उन्होंने वह ऑफर एक्सेप्ट कर लिया। जिसके बाद उनकी जिंदगी ही बदल गई। वह हरियाणा के बड़े बड़े कलाकारों से भी मिल चुके हैं। हालांकि उनके साथ काम करने का अभी उन्हें मौका नही मिल पाया है।

विक्की के जल्दी ही आ रहे हैं नए गाने

विक्की ने बताया कि जल्दी ही उनके दो नए हरयाणवी गाने गुज्जर के शौक थ्री और मेरा सब्र आने वाले हैं। इसके साथ ही सच्ची घटना पर आधारित बेकसूर नाम की मूवी पर भी अभी काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि उन्होंने लाइफ इंटरटेनमेंट नाम से अपना प्रोडक्शन हाउस की खोला हुआ है। लाइफ़ इंटरटेनमेंट यूट्यूब चैनल भी उन्होंने बनाया हुआ है।

हरियाणवी गानों ने छोड़ी छाप

कलाकार विक्की गुर्जर ने बताया कि गाने बनाने से पहले वह क्रिकेट का शौक रखते थे। उस दौरान हरियाणवी गानों का प्रचलन बहुत अधिक चल रहा था। उन गानों ने ही उन्हें प्रभावित किया और उन्होंने भी हरियाणवी इंडस्ट्री में काम करने की ठान ली तभी से वह लगातार हरियाणवी कलाकारों के साथ काम कर रहे हैं।

%d bloggers like this: