May 8, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

18 से 44वर्ष के नागरिकों के लिए आज से शुरू होगा टीकाकरण अभियान

रांची:- राज्य में एक मई से 18 से 44 वर्ष के नागरिकों के लिए टीकाकरण शुरू किया जाएगा। टीकाकरण शुरू करने की तैयारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान झारखंड कर रही है। फिलहाल टीका की उपलब्धता के आधार पर ही इस आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण होगा। राज्य सरकार के पास टीके के बहुत कम डोज बचे हैं। सीरम इंस्टीट्यूट से अभी तक लगभग दस लाख बाकी डोज ही नहीं मिल पाई है। बताया जा रहा है कि सीरम इंस्टीट्यूट ने 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के नागरिकों के लिए 15 मई के बाद ही टीका उपलब्ध कराने की बात कही है। ऐसे में राज्य में जो डोज उपलब्ध है तथा सीरम इंस्टीट्यूट से जो बकाया डोज राज्य को प्राप्त हो सकेंगे, उनसे ही टीकाकरण हो पाएगा। फिलहाल, राज्य में 25 अप्रैल तक कोविशील्ड के 2,92,120 डोज तथा कोवैक्सीन के 3,45,850 डोज ही उपलब्ध थे। अभी इसी से सभी आयु वर्ग के नागरिकों का टीकाकरण होना है। ऐसे में इतने डोज के हिसाब से ही टीकाकरण का प्लान किया जा रहा है। यदि राज्य को टीका के और डोज उपलब्ध हो पाएंगे तो। इसमें वृद्धि की जाएगी। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव एके सिंह ने कहा है कि केंद्र से 50 लाख टीके की मांग केंद्र सरकार से की गई है। इसमें 30 लाख पुरानी मांग है, जबकि, 20 लाख टीके की नई डिमांड की गई है। केंद्र सरकार ने आश्वासन दिया है कि 15 दिनों के अंदर राज्य सरकार की डिमांड के मुताबिक सारे टीके उपलब्ध करा दिए जाएंगे। उनके मुताबिक राज्य सरकार की तरफ से भी 25 लाख डोज सीधा टीका बनाने वाली कंपनियों को ऑर्डर किये गये हैं। वहां से भी तय समय से मिलने की संभावना है। एक मई से शुरू होने वाले 18 से 44 वर्ष के नागरिकों के लिए राज्य सरकार को स्वयं टीके खरीदने हैं। जबकि, इससे ऊपर के लोगों के लिए केंद्र सरकार राज्य को उपलब्ध कराती रहेगी। वहीं इस आयु वर्ग के नागरिकों को टीकाकरण के लिए कोविन पोर्टल पर ऑनलाइन निबंधन कराना अनिवार्य होगा। इनका टीका केंद्र पर ऑफलाइन निबंधन नहीं होगा। केंद्रों पर अधिक भीड़ न हो इसे लेकर यह व्यवस्था की गई है। कोविन पोर्टल पर निबंधन के क्रम में केंद्र के चयन की भी सुविधा रहती है। हालांकि यह भी तैयारी की जा रही है कि इस आयु वर्ग के लोगों के लिए 90 फीसदी ऑनलाइन तथा 10 फीसदी ऑफलाइन निबंधन हो।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: