April 18, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

UN ने किसान आंदोलन के पत्रकारों पर कार्रवाई का किया विरोध, कहा- इस “संकट” का हो उचित समाधान

जिनेवा:- संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बेशलेट ने शुक्रवार को उम्मीद जताई कि भारत सरकार और नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच चल रहे संवाद के प्रयासों से इस “संकट” का एक उचित समाधान निकलेगा। उन्होंने ये भी उम्मीद जताई कि इस समाधान में सभी के अधिकारों का सम्मान किया जाएगा। चीन, पाकिस्तान और रूस सहित 50 से अधिक देशों में हाल के मानवाधिकार मुद्दों पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद को अद्यतन करते हुए, बेशलेट ने किसानों के विरोध प्रदर्शन को कवर करने वाले पत्रकारों और कार्यकर्ताओं के खिलाफ की गई कार्रवाई और सोशल मीडिया पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अंकुश लगाने के प्रयासों की भी आलोचना की।
बेशलेट के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए, भारत के स्थायी प्रतिनिधि राजदूत इंद्र मणि पांडेय ने कहा कि भारत सरकार ने 2024 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा, ”तीन कृषि कानूनों को लागू करने का उद्देश्य किसानों को उनकी उपज के लिए बेहतर कीमत प्रदान करना और उनकी आय में वृद्धि करना है। यह विशेष रूप से छोटे किसानों को लाभान्वित करेगा और किसानों को अधिक विकल्प प्रदान करेगा।” पांडेय ने अपने राष्ट्रीय वक्तव्य में कहा, ”सरकार ने किसानों के विरोध प्रदर्शन के प्रति अत्यधिक सम्मान दिखाया है और उनकी चिंताओं को दूर करने के लिए बातचीत में लगी हुई है।” बाचेलेट ने अपने बयान में कहा, ”मुझे विश्वास है कि दोनों पक्षों के बीच चल रहे संवाद प्रयासों से इस संकट का एक उचित समाधान निकलेगा जो सभी के अधिकारों का सम्मान करता हो।”

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: