अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

राज्यपाल के शपथग्रहण में नहीं बुलाये गए दो पूर्व सीएम, मचा सियासी बवाल आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी

रांची:- राज्यपाल रमेश बैस के कल हुए शपथ ग्रहण समारोह में राज्य के दो पूर्व सीएम को नहीं बुलाने का मामला सियासी तूल पकड़ चूका है। इससे संबंधित अनेक प्रतिक्रियाएं सामने आ रही है। इस विषय पर विपक्ष का कहना है कि राज्य के दो पूर्व मुख्यमंत्री को समारोह में आमंत्रित न करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार पर आरोप लगाते हुए बीजेपी प्रदेश कमेटी ने कहा कि वर्तमान की सरकार को स्थापित परंपराओं को तोड़ने के लिए हमेशा याद रखा जायेगा।
वही सत्तारूढ़ पार्टी झामुमो ने भी इसका पलटवार किया है। जेएमएम के केंद्रीय प्रवक्ता मनोज पांडे ने जवाब देते हुए कहा है कि यह मामला गवर्नर सेक्टरियट का है. इसमें सरकार को दोष देना गलत है। सरकार की यहां जवाबदेही नहीं बनती है। जेएमएम ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि पूर्व आदिवासी राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू का अपमान क्यों किया गया था। जाने से पहले किसी भी बीजेपी के नेता ने एक औपचारिक मुलाकात भी नहीं की है। इसपर बीजेपी को मंथन करने की आवश्यकता है।
बीजेपी खुद कॉमन कर्टसी भूल चुकी है तो उसे हमपर आरोप लगाने का कोई अधिकार नहीं है, और भी आरोप लगाते हुए कहा गया कि बीजेपी खुद बाबूलाल मरांडी से मिलने नहीं गयी है। पहले उन्हें खुद मिलना चाहिए, तब दुसरों को बताना चाहिए। जबरदस्ती इज़्ज़त लेने की राजनीति बीजेपी को छोड़नी चाहिए। इसपर अभी तक बीजेपी की कोई भी प्रतिक्रिया नहीं आयी है पर ऐसा साफ़ देखा जा सकता है, कि सूबे की राजनीति थोड़ी गरम जरूर हुई है।

%d bloggers like this: