अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सभी शैक्षणिक संस्थाओं के 100 गज के दायरे से हटाए सभी तंबाकू उत्पाद अन्यथा होगी सख्त कार्रवाई


बिना लाइसेंस के नहीं होगी किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पाद की बिक्री
चाईबासा:- आज जिला समाहरणालय स्थित सभागार में जिला तम्बाकू नियंत्रण कोषांग,चाईबासा और सीड्स झारखंड के संयुक्त तत्वाधान में उपायुक्त अनन्य मित्तल की अध्यक्षता में तंबाकू नियंत्रण हेतु गठित त्रिस्तरीय छापामार दस्ते के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें अपर उपायुक्त, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर , तंबाकू नियंत्रण कोषांग के नोडल पदाधिकारी, सिविल सर्जन चाईबासा,सभी थाना प्रभारी, सीड्स के प्रतिनिधियों सहित अन्य पदाधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।
बैठक के दौरान उपायुक्त ने जिला अंतर्गत अलग-अलग क्षेत्रों में तंबाकू नियंत्रण से संबंधित केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुपालन हेतु किए जा रहे कार्यों की जानकारी ली। इस दौरान उपायुक्त ने अनुमंडल पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारियों को सभी दिशानिर्देशों का शत- प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करने हेतु आवश्यक कार्रवाई करने हेतु निर्देशित किया गया।
बैठक के दौरान उपायुक्त ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को नियमित रूप से जिले में स्थित शैक्षणिक संस्थानों का निरीक्षण करने एवं संस्थानों के 100 गज की दूरी तक किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पादों की बिक्री ना होने देना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। जिस हेतु उपायुक्त ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को नियमित रूप से विद्यालय प्रबंधन समिति के साथ बैठक करने एवं उचित दिशा निर्देश देने का निर्देश दिया।बैठक के दौरान उपायुक्त ने नगर परिषद के सिटी मैनेजर को निर्देश दिया कि यह सुनिश्चित करें कि जिला अंतर्गत किसी भी क्षेत्र में बिना लाइसेंस के कोई भी दुकानदार या व्यापारी तंबाकू उत्पादों की बिक्री ना कर सके इसके साथ ही इस की अवमानना करने वाले व्यापारी पर दंडात्मक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। उपायुक्त ने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने कार्यालयों में तंबाकू मुक्त संस्थान का साईनेज लगाना सुनिश्चित करें।
बैठक के दौरान राज्य सरकार की तकनीकी सहयोगी संस्था सीड्स के कार्यपालक निदेशक दीपक मिश्रा ने प्रस्तुतिकरण के द्वारा मौजूद अधिकारियों को तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के उदेश्यों, तंबाकू संबंधित उत्पादों पर रोक लगाने हेतु उठाए जाने वाले कदमों आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गयी।
बैठक के दौरान सिविल सर्जन डॉ बुक्का उरांव के द्वारा तंबाकू नियंत्रण कोषांग के अधिकारियों को तंबाकू नियंत्रण के तहत जिले में हो रहे कार्यों की नियमित रूप से समीक्षा करने एवं इससे संबंधित प्रतिवेदन सिविल सर्जन कार्यालय तथा उपायुक्त के कार्यालय को उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया गया।

%d bloggers like this: