May 14, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

उप्र में अब तक 7.77 लाख मरीज कोरोना संक्रमण से हुए मुक्त : योगी आदित्यनाथ

निःशुल्क टीकाकरण का निर्णय लेने वाला उप्र पहला राज्य

दोनों स्वदेशी कम्पनियों को 50-50 लाख डोज का आर्डर

लखनऊ:- उत्तर प्रदेश में विगत 24 घंटों में 35 हजार 614 नए कोविड संक्रमित केस आएं, जबकि 25 हजार 633 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश में अब तक 7.77 लाख से अधिक लोग कोविड संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह सुखद स्थिति ‘दवाई भी-कड़ाई भी’ के सूत्र को प्रभावी ढंग से अमल में लाने के नाते संभव हो पाया है।
मुख्यमंत्री ने रविवार को कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम-11 को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों के निःशुल्क टीकाकरण का निर्णय लेने वाला पहला राज्य उत्तर प्रदेश है। एक मई से प्रारंभ हो रहे इस वृहद् टीकाकरण अभियान के संबंध में भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप सभी आवश्यक तैयारियां समय से पूरी कर ली जाएं।
अधिकारियों ने बताया कि 50-50 लाख डोज का ऑर्डर दोनों वैक्सीन निर्माता कंपनियों को भेज दिया गया है। इसके अतिरिक्त भारत सरकार की ओर से वैक्सीन की डोज उपलब्ध कराई जाएगी। इस संबंध में व्यापक कार्ययोजना तैयार कर ली गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीन वेस्टेज न हो, यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित किया जाय।
कोविड मरीजों के उपचार से इन्कार नहीं कर सकते हॉस्पिटल
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी निजी या सरकारी अस्पताल किसी भी कोविड मरीज के उपचार से इन्कार नहीं कर सकता। नियमानुसार सरकार इनके उपचार का खर्च वहन करेगी, लेकिन मरीज को तुरंत चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाय। इसके साथ ही एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिव आए लोगों को समुचित इलाज उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि आईआईटी कानपुर, आईआईएम लखनऊ और आईआईटी बीएचयू के सहयोग से ऑक्सीजन की ऑडिट कराने की कार्यवाही करायी जाए। इसी प्रकार, लखनऊ के एकेटीयू, गोरखपुर में एमएमएमयूटी, कानपुर में एचबीटीयू और प्रयागराज में एमएनआईटी से संपर्क स्थापित कर ऑक्सीजन ऑडिट कार्य में सहयोग लिया जाए। इन संस्थानों को इनके समीपस्थ अलग-अलग जिले आवंटित कर ऑडिट कराया जाए। ऑक्सीजन मांग-आपूर्ति-वितरण की लाइव ट्रैकिंग कराने की व्यवस्था लागू हो गई है। इसे प्रभावी बनाया जाए।
कोविड हॉस्पिटल में ऑक्सीजन का अभाव नहीं
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह युद्धस्तर पर किए गए प्रयासों का ही नतीजा है कि आज उत्तर प्रदेश में अन्य राज्यों की तरह हाहाकार की स्थिति नहीं है। ऑक्सीजन आपूर्ति सामान्य है। भारत सरकार ने प्रदेश का आवंटन बढ़ाया है। इसकी आपूर्ति यथाशीघ्र प्रदेश में कराई जाए। ऑक्सीजन एक्सप्रेस जैसे अभिनव सहयोग से बड़ा लाभ हुआ है। ऑक्सीजन एयरलिफ्ट भी कराई जा रही है। निजी हो या सरकारी, किसी कोविड हॉस्पिटल में ऑक्सीजन का अभाव नहीं है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन टैंकरों की संख्या बढ़ाये जाने की जरूरत है। परिवहन विभाग इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करे। इसके अलावा, टैंकरों की आपूर्ति के लिए भारत सरकार से भी सहयोग प्राप्त किया जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 100 बेड से अधिक क्षमता वाले सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाने की कार्यवाही तेजी से आगे बढ़ाई जाए। यह शासन की शीर्ष प्राथमिकता का कार्य है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: