अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

एक करोड़ के इनामी नक्सली अनल दा दस्ते के तीन सदस्यों ने किया सरेंडर


रांची:- एक करोड़ के इनामी नक्सली और माओवादी सेंट्रल कमिटी मेंबर के सदस्य अनल दा उर्फ उर्फ पतिराम मांझी के मारक दस्ते का एरिया कमांडर बैलून सरदार, दस्ता सदस्य गाजु उर्फ सूरज सरदार और रायमुनी कुमारी उर्फ गीता ने सोमवार को रांची में आईजी अभियान एवी होमकर के समक्ष सरेंडर कर दिया। रांची रेंज डीआईजी पंकज कंबोज के कार्यालय परिसर में आयोजित सरेंडर कार्यक्रम में तीनों नक्सलियों ने सरेंडर किया।
मौके पर आईजी अभियान एवी होमकर ने कहा कि झारखंड को नक्सल मुक्त बनाने के लिए सीआरपीएफ जगुआर और अन्य केंद्रीय अर्धसैनिक बलों द्वारा सभी नक्सली संगठनों के खिलाफ चौतरफा कार्रवाई की जा रही है। अभियान के दौरान पुलिस को नक्सली संगठनों के खिलाफ लगातार सफलता में भी मिल रही है । साथ ही झारखंड को पूरी तरह से नक्सल मुक्त करने के लिए भटके नक्सलियों को मुख्यधारा में लौटने के लिए झारखंड सरकार की आत्मसमर्पण और पुर्नवास नीति के तहत कार्य किया जा रहा है। जिसका परिणाम काफी सकारात्मक रहा है। अब तक भाकपा माओवादी सहित अन्य कई प्रतिबंधित नक्सली संगठनों के कई बड़े इनामी नक्सली से लेकर दस्ता सदस्य झारखंड पुलिस के समक्ष सरेंडर किए हैं।
आईजी ने कहा कि पुलिस के लगातार अभियान, बढ़ती दबिश और संगठन में आंतरिक शोषण से परेशान होकर तथा झारखंड सरकार की आत्म समर्पण और पुर्नवास नीति से प्रभावित होकर इन तीनों नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। तीनों नक्सली खूंटी , पश्चिमी सिंह और सरायकेला-खरसावां जिले में सक्रिय थे।
एरिया कमांडर बैलून सरदार और गाजी उर्फ सूरज सरदार खरसावां थाना क्षेत्र के राय गांव के रहने वाले है, जबकि दस्ता सदस्य गीता मुंडा रांची के तमताड़ थाना क्षेत्र के बोन्डोडीह गांव की रहने वाली हैं। इन तीनों के खिलाफ विभिन्न थाना क्षेत्रों में कई मामले दर्ज हैं और इनके सरेंडर करने से नक्सली संगठन को बड़ा झटका लगा हैं।

%d bloggers like this: