अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

डीएवी कपिलदेव में तीन दिवसीय शिक्षक उन्नयन कार्यक्रम वेबिनार शुरू

रांची:- डीएवी कपिल देव पब्लिक स्कूल, कडरू विद्यालय में आज से झारखंड जोन एफ के षिक्षकों के लिए तीन-दिवसीय शिक्षक उन्नयन कार्यक्रम वेबिनार की शुरुआत हो गई। सात से नौ जुलाई तक चलने वाले इस वेबिनार का उद्घाटन आज आई जी प्रक्षेत्र (हेड क्वार्टर) अखिलेश झा ने किया। इस अवसर पर डीएवी संस्था को बहुत बहुत धन्यवाद देते हुए कहा कि डीएवी संस्था एक लंबे समय से छात्रों में संस्कार भरने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि वे स्वामी दयानंद सरस्वती द्वारा लिखित पुस्तक सत्यार्थ प्रकाश हर छह महीने में एक बार पढ़ते हैं और हर बार उन्हें नया संबल और अनुभव मिलता है। क्षेत्रीय महानिरीक्षक श्री झा ने कहा कि शिक्षक ईश्वर तुल्य होते हैं और शिक्षकों को हमेशा नयी नयी जानकारी प्राप्त करते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि आनलाइन शिक्षण कभी भी आफलाइन शिक्षा का स्थान नहीं ले सकता।
इस अवसर पर क्षेत्रीय सहायक पदाधिकारी (स्वतंत्र प्रभार), षिक्षक प्रषिक्षण प्रभारी सह प्राचार्य एम के सिन्हा ने कहा कि शिक्षक राष्ट्र की नींव होते हैं। बिना अच्छे शिक्षक के अच्छे राष्ट्र की कल्पना नहीं की जा सकती। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि तीन दिनों तक चलने वाले इस सेमिनार के लिए दिल्ली से डीएवी के प्रधान पद्मश्री श्री पूनम सूरी जी , पीएस एक के निदेशक श्री जे पी शूरजी और सेंटर फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस की निर्देशिका श्रीमती निशा पेशिन जी ने भी वेबिनार के लिए शुभकामनाएं व्यक्त की हैं ।प्राचार्य ने कहा कि कोरोना के संकट काल में शिक्षकों ने जिस ढंग से काम किया है वह बहुत ही सराहनीय है और भविष्य में इससे भी ज्यादा समर्पित होकर काम करने की जरूरत है।
जब से निदेशक के रूप में डा जे पी शूर ने कार्यभार संभाला है तब से झारखंड के डीएवी विद्यालय सर्वांगीण विकास की ओर और तेजी से अग्रसर हो चले हैं। डॉ शूर की प्रेरणा से शिक्षक और कर्मचारी आपदा के इस काल में भी समर्पित भाव से विद्यालय में कार्य कर रहे हैं और उन्हीं के मार्गदर्शन का यह परिणाम है कि बच्चों को आपदा के इस काल में भी अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराने में हम लोग सफल हो रहे हैं।
तीन दिनों तक वाले इस वेबिनार का आयोजन सी ए ई, सेंटर फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस नयी दिल्ली के तत्वावधान में किया जा रहा है। सी ए ई की निदेशिका डॉक्टर निशा पेशिन का झारखंड के विद्यालयों पर हमेशा से विशेष ध्यान रहा है और वे शिक्षकों को उच्च तकनीक से जोड़ने तथा अद्यतन रखने के लिए निरंतर प्रयासरत रहती हैं।
इस अवसर पर विशेषज्ञों ने अपने अपने विषय में अपनी प्रस्तुति दी।आज अंग्रेजी में जी के पाठक ,वीके सिन्हा ,जया जायसवाल, प्रतिभा सिंह, श्वेता और स्मृति ने अपनी प्रस्तुति दी जबकि गणित में करण सिंह, अजीत सिंह ,हरप्रीत सिंह और एसएन तिवारी ने अपनी प्रस्तुति दी। वहीं भौतिकी विषय में नवीन कुमार ,अंशु पांडे ,बाल विकास तिवारी ,जॉय बसु मल्लिक ने शिक्षकों को संबोधित किया रसायन विज्ञान में ए पाठक, शबनम प्रसाद ,एच आर तिवारी, अपर्णा राय ने अपनी प्रस्तुति दी।इसी प्रकार जीव विज्ञान में तुषार घोष ,विक्रम चंदेल ,शशिकला सिंह ,कविता मुखर्जी और सुदीप्तो रंजन ने अपने विचार रखे। कंप्यूटर में अमित दत्ता ,आनंद गोपाल ,विवेक ,श्वेता झा और आरके सिंह ने प्रस्तुति दी हिंदी में आलोक इंद्र गुरु ,साधना शर्मा ,मीनू पाठक ,अनुभूति तिवारी और एस के प्रभाकर ने विषय विशेषज्ञ के रूप में लोगों को संबोधित किया ।कॉमर्स में शरद उपाध्याय ,एस मजूमदार ब्रजेश सिन्हा, विजय कुमार गुप्ता ने अपनी प्रस्तुति दी। अर्थशास्त्र में पूजा सिंह। स्वाति डे, अम्बरीश पांडेय ने अपने विचार रखे। संस्कृत में कामदेव पांडेय ,प्रियंका प्रियदर्शनी, मनोज मिश्र, निधि कांत ठाकुर ने अपने विचार रखे इसी प्रकार सामाजिक विज्ञान और पीडीपी विषय में भी विषय विशेषज्ञों ने अपनी प्रस्तुति दी सभी विषयों के लिए डीएवी जोन एफ के अलग-अलग विद्यालयों के प्राचार्य पर्यवेक्षक बनाए गए हैं ये पर्यवेक्षक प्रस्तुतीकरण के समय मौजूद रहे तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। प्रषिक्षण के लिए विद्यालय प्रभारी एन झा, संजय सिंह तथा डॉ एन के पांडेय को आज के सफल कार्यक्रम के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया गया है।

%d bloggers like this: