अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

महंगाई को डायन बताने वाले आज महबूबा समझ इससे चिपके बैठे हैंः तेजस्वी यादव


पटनाः- बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव महंगाई को लेकर केंद्र एवं राज्य सरकार का घेराव किया है। उन्होंने हमला बोलते हुए कहा कि महंगाई को डायन बताने वाले आज महबूबा समझ इससे चिपके बैठे है।
आम लोगों को भूखा मार देगी डबल इंजन सरकार
तेजस्वी यादव ने गुरुवार को कहा, “एनडीए सरकार के सौजन्य से देश में महंगाई एक भीषण समस्या बन चुकी है। डबल इंजन सरकार ने भीष्म प्रतिज्ञा ली है कि खाद्य पदार्थों, पेट्रोल-डीजल और गैस सिलेंडर की कीमतें बढ़ाकर आम लोगों को भूखा मार देंगे। महंगाई को डायन बताने वाले आज इसे महबूबा समझ इससे चिपके बैठे है। सरकार में बैठे लोग महंगाई रूपी प्रियतमा को दूर कर ही नहीं पा रहे है।”
गरीबों का जीना मुहाल करके दम लेंगे
नेता प्रतिपक्ष ने आगे कहा, “केंद्र और बिहार की डबल इंजन सरकार की पूंजीपरस्त जनविरोधी नीतियों की मार ने निम्न व मध्यम वर्ग की कमर तोड़ दी है। खाद्य पदार्थों, खाद्य तेल के दाम तो आसमान छू ही रहे थे, खाना खरीदने के साथ साथ खाना पकाना भी महंगा हो गया है। पिछले 8 महीनों में रसोई गैस के दाम 190 रुपए तक बढ़ गए हैं। पिछले 2 हफ्तों में 2 बार रसोई गैस के कीमत बढ़ाए गए। ऐसा प्रतीत होता है कि मोदी सरकार और उसके विभाग कमर कस कर बैठ चुके हैं गरीबों का जीना मुहाल कर के दम लेंगे।”
रसोई गैस की कीमतों ने गरीबों के पेट में मारी लात
राजद नेता ने कहा, “केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना के खूब कसीदे पढ़े, खूब महिमामंडन किया, भावुकता का चोगा पहन पहन कर स्वघोषित निर्धनता उन्मूलन के पुरोधा होने का दावा किए। क्या आज इस सरकार में हिम्मत है कि गांव-गांव जाकर उज्ज्वला योजना की समीक्षा करें और देश को इसकी वास्तविकता बताएं। आज गरीबों के घर में पड़े खाली LPG सिलेंडर मुंह चिढ़ा रहे हैं। 2014 में 384 प्रति रसोई गैस के सिलिंडर कंधे पर ढो ढोकर प्रदर्शन करने वाले लोग आज प्रति सिलेंडर की क़ीमत 1000 करने के बाद भी सत्ता में बैठ चुप्पी साधे हुए हैं। चौतरफा महंगाई से गरीबों और मध्यम वर्ग की जेबों पर डाका पड़ ही रहा था, रसोई गैस की कीमतों ने अब पेट पर लात मार दी है।
आम आदमी की लड़ाई लड़ते रहेंगे
अंत में तेजस्वी ने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी और भुखमरी को लेकर सड़क से लेकर सदन तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा। हम आम आदमी की लड़ाई लड़ते रहेंगे।

%d bloggers like this: