अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पूर्णिया में मिलता है दुनिया का सबसे महंगा जापानी आम, तइयो नो तमांगो की कीमत है 21 हजार

पूर्णियाः- दुनिया में आम की कई किस्म अपनी स्वाद और खूबसूरती के लिए मशहूर है। भारत में भी आम की कई मशहूर किस्म की पैदावार की जाती है, लेकिन ये जानकर आप हैरान रह जाएंगे कि दुनिया का सबसे महंगा आम जापान के मियाजाकी प्रांत का तइयो नो तमांगो आम है।
इस किस्म की एक आम की कीमत ही 21 हजार रुपए आंकी गई है। इस आम की सबसे बड़ी खासियत है कि सूर्य की रौशनी के साथ ही ये आम लाल होता जाता है। अगर सूर्य की रौशनी नहीं पड़े तो ये आम दिखने में हरा ही लगता है। जापान में इस किस्म के आम के पौधे को गिफ्ट में दिया जाता है। माना जाता है कि इस आम के रहते परिवार की किस्मत सूर्य की किरणों की तरह चमक जाता है। अच्छी बात ये है कि पूर्णियां में भी इस किस्म का इकलौता पेड़ लगा हुआ है। पूर्णिया शहर के भट्टा दुर्गाबाड़ी स्थित पूर्व विधायक अजीत सरकार के घर में 25 साल से तइयो नो तमांगो किस्म के आम का पेड़ लगा है। अभी यह पेड़ लाल रंग के बेहद खूबसूरत आम से लदा हुआ है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस आम के किस्म की कीमत लगभग 2 लाख 70 हजार रुपए किलो है।
वहीं दिवंगत विधायक अजीत सरकार के दामाद विकास दास बताते हैं कि करीब 30 साल पहले एक विदेशी मेहमान ने ये तोहफा दिया था। विदेशी मेहमान ने अजीत सरकार की बेटी रीमा सरकार को इस दुर्लभ प्रजाति के आम के पौधे को उपहार के तौर पर दिया था। वहीं विकास दास ने बताया कि जब परिवार ने ये पौधा लगाया था तब इसके महत्व के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। उन्होंने कहा कि सुंदरता के लिए इस पौधे को लगा दिया गया, लेकिन जब इसकी महत्ता और आम के बोली लगने की बात सामने आई तो सुरक्षा के लिहाज से सीसीटीवी लगा दिया गया और लोगों को भी सुरक्षा करने के लिए तैनात किया गया है। दुनिया के सबसे महंगे आम की पैदावार बढ़ाने पर बिहार सरकार को ध्यान देना चाहिए, क्योंकि ऐसा लग रहा है कि पूर्णिया की ऊपजाउ जमीन पर इस तइयो नो तमांगो किस्म के आम की खेती हो सकती है। अगर इस किस्म के आम की खेती हो तो सीमांचल के किसानों की आमदनी को कई गुणा बढ़ाया जा सकता है।

%d bloggers like this: