अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मरीजों को वक्त रहते जरूरत थी तो बाटी नहीं गई, अब जला रहे हैं लाखों की एक्सपायरी व नन एक्सपायरी दवाएं

चतरा सदर अस्पताल में लाखों रुपये की एक्सपायरी दवाइयों को जलाने के मामले का वीडियो वायरल



चतरा:- चतरा में एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। चतरा सदर अस्पताल में दूरदराज से इलाज कराने पहुंचे गरीब व असहाय मरीजों को जहां दवा की किल्लत के कारण अस्पताल से बाहर की दवाइयां मेडिकल स्टोर में ऊंचे दामों पर खरीदनी पड़ रही है। वही मरीजों को मुफ्त वितरण के लिए अस्पताल प्रबंधन व स्वास्थ्य महकमा को राज्य सरकार द्वारा आवंटित लाखों रुपए की जीवन रक्षक दवाइयों को अस्पताल परिसर में लापरवाही की आग में दिनदहाड़े झोंका जा रहा है। हमेशा विवादों में रहने वाले स्वास्थ्य महकमा और सदर अस्पताल पर एक बार फिर एक्सपायरी दवाइयों को जलाने का गंभीर आरोप लगा है। इस बाबत सदर अस्पताल में तैनात फार्मासिस्ट सह स्टोर कीपर का सिविल सर्जन कार्यालय परिसर में स्थित एक पुराने जर्जर आवास में दिनदहाड़े लाखों रुपये की एक्सपायरी दवाइयों को जलाते वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो वायरल होने के बाद स्वास्थ्य महकमा में हड़कंप मच गया है। जिसके बाद सिविल सर्जन डॉक्टर एसएन सिंह ने डॉक्टरों के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं आरोपी फार्मासिस्ट को भी शोकॉज जारी किया गया है। जिन दवाइयों को जलाया जा रहा है उनमें प्रसव के दौरान काम आने वाले कई महंगी महत्वपूर्ण दवाइयां के साथ-साथ आयरन, कैल्सियम, प्रसव के दौरान लगने वाला इंजेक्शन, सिरिंज, कई प्रकार के स्लाइन, फोलिक एसिड, बच्चों को दिये जाने वाले ओआरएस समेत अन्य दवाईयां शामिल है। बहरहाल सोशल मीडिया में अस्पताल परिसर में दवाइयों के जलाने का वीडियो वायरल होने के बाद स्वास्थ्य महकमा और सदर अस्पताल की व्यवस्था पर उंगलियां उठने लगी है। इधर विभिन्न राजनीतिक, गैर-राजनीतिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने पूरे मामले में निष्पक्ष जांच कराते हुए दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की मांग की है। इस पूरे मामले में दोषी कौन है यह तो जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

%d bloggers like this: