May 12, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना संक्रमण पर 20 सूत्री के प्रभारी मंत्री ने खूंटी में की बैठक

अब तक उठाये गये कार्या की सराहना, स्थिति से निपटने के लिए और कदम उठाने के निर्देश

रांची:- झारखंड के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति सह खूंटी जिला के 20 सूत्री प्रभारी मंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव ने कोरोना संक्रमण से उत्पन्न स्थिति से निपटने को लेकर आज खूंटी में वरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस बैठक में प्रशासन की ओर से जिले के उपायुक्त शशि रंजन, पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर,डीडीसी अरुण कुमार सिंह,सिविल सर्जन डा प्रभात कुमार,और जिला आपूर्ति पदाधिकारी रंजीता टोप्पो समेत अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे। जबकि संगठन की ओर से प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, पूर्व विधायक कालीचरण मुंडा और खूंटी कांग्रेस जिलाध्यक्ष रामकृष्ण चौधरी भी मौजूद थे। समीक्षा बैठक के दौरान डॉ0 रामेश्वर उरांव ने जिला प्रशासन की ओर से कोरोना संकट से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए किये जा रहे इंतजाम पर संतोष व्यक्त किया और दवाई, इंजेक्शन,आक्सीजन बेड,आइसीयू समेत अन्य कमियों को दूर करने के लिए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से भी फोन पर बात की। उपायुक्त ने बताया खूंटी जिला में इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया जा रहा है, ऑक्सीजन सपोर्स्टेटेड बेड एवं वेंटिलेटर के मुकम्मल इंतजाम किये गये हैं ताकि मरीजों को दिक्कत नां हो।
डॉ0 रामेश्वर उरांव ने इस मौके पर पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि जिला प्रशासन की ओर से कोरोना से निपटने के लिए अच्छे इंतजाम किये गये है, इसके लिए उपायुक्त और उनकी टीम को बधाई, परंतु अभी संकट की स्थिति खत्म नहीं हुई है, इस बार कोरोना लहर की तीव्रता काफी तेज है, बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे है और इस बात मौत का भी आंकड़ा बढ़ गया है। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए और भी बेहतर प्रबंध की आवश्यकता है,ताकि आने वाले समय में सभी का समुचित इलाज संभव हो सके और किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।
कोरोना टीकाकरण के संबंध में उपायुक्त की ओर से यह जानकारी दी गयी कि पहले यह काम तेजी से चल रहा था, लेकिन कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में कई प्रखंडों के बीडीओ समेत अन्य अधिकारी संक्रमित हो गये है,ऐसे में थोड़ी परेशानी हुई, लेकिन सभी कार्यां को सुचारू रूप से चलाने की कोशिश की जा रही है।
20सूत्री के प्रभारी मंत्री ने कहा कि राजधानी रांची से सटे खूंटी, लोहरदगा और रामगढ़ में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए इनफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया जाना चाहिए, ताकि रांची पर दबाव कम हो सके। इस संबंध में भी उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से बात की है।
उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने से राज्य के 11 श्रमिकों की मौत पर भी दुःख व्यक्त करते हुए डॉ0 उरांव ने कहा कि मृतक के आश्रितों को राज्य सरकार मुआवजा देगी।
खूंटी की जिला आपूर्ति पदाधिकारी रंजीता टोप्पो को मंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव ने आदेश दिया कि अभी बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक घर वापस लौट रहे है, इसके अलावा जिले में रहने वाले अन्य गरीब लोग और श्रमिकों को समय पर अनाज उपलब्ध कराने का प्रबंध कर लें। उन्होंने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को यह भी निर्देश दिया कि आदिम जनजाति परिवारों को दो महीने का अनाज पैक कर उनके घर तक भेजने का भी प्रबंध तुरंत कर लिया जाना चाहिए। इसके अलावा गरीब और जरूरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए जगह-जगह पर दाल-भात केंद्र के लिए स्थान का चयन भी शीघ्र कर लिया जाना चाहिए।
खूंटी जिले के 20सूत्री प्रभारी मंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव की उपस्थिति में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूती प्रदान करने के लिए जिला प्रशासन और निजी कंपनियों के बीच एमओयू पर भी हस्ताक्षर किया गया।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने बताया कि 2 घंटे तक चली समीक्षा बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए ताकि आम जनों को कोरोना संक्रमण में मेडिकल सहायता उपलब्ध हो सके, उन्होंने पार्टी की ओर से भी हरसंभव सहयोग करने एवं कार्यकर्ताओं को वोलेनटियर्स के रूप में इस्तेमाल करने की भी बात कही।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: