January 20, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अलगाववादियों से गठबंधन कांग्रेस के ताबूत में अंतिम कील : नित्यानंद

पटना:- केंद्रीय गृह राज्य मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता नित्यानंद राय ने आज कहा कि बिहार के विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद बर्बाद हो चुकी कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में गुपकार गठबंधन के जरिए अलगाववादियों के साथ गठजोड़ किया है जो उसके (कांग्रेस) ताबूत में अंतिम कील साबित होगी। श्री राय ने आज यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की करारी हार के बाद कांग्रेस ने कश्मीर में गुपकार गठबंधन किया है। अलगाववादियों के साथ गठबंधन करना राजनीतिक रूप से समाप्त हो चुकी कांग्रेस के ताबूत में अंतिम कील साबित होगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चाहे अलगाववादियों से समझौता करे या चीन-पाकिस्तान से सहयोग ले लेकिन जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 फिर से वापस नहीं हो सकता।

गृह राज्य मंत्री ने जम्मू-कश्मीर में विपक्षी दलों के साथ कांग्रेस के गुपकार गठबंधन को लेकर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी के साथ ही उनकी पार्टी को इसे देश के लोगों को स्पष्ट करना चाहिए। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि श्री गांधी और कांग्रेस के नेता अनुच्छेद-370 समाप्त होने का विरोध क्यों कर रहे हैं। श्री गांधी को इसका जवाब देना चाहिए। श्री राय ने कहा कि कांग्रेस हमेशा से देश विरोधी ताकतों के साथ क्यों खड़ी होती है। कांग्रेस ने गुपकार गठबंधन का साथ देकर यह स्पष्ट कर दिया है कि वह जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 फिर से वापस लाना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के चरित्र को देश देख रहा है। गृह राज्य मंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हो रहे विकास परिषद चुनाव में कांग्रेसी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के साथ गठबंधन कर रही है। ऐसे में कांग्रेस गुपकार से अलग कैसे हो सकती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कह रहे हैं कि जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद-370 को फिर से बहाल किया जाएगा लेकिन देश विरोधी उसकी मंशा कभी भी कामयाब नहीं होगी। श्री राय ने कहा कि देश की 135 करोड़ जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पूरा विश्वास करती है। ऐसे में धारा-35(ए) और अनुच्छेद-370 हटाने का कोई सवाल ही नहीं है । उन्होंने कहा कि कांग्रेस चीन का सहयोग ले या पाकिस्तान का या फिर पाकिस्तान जाकर भारत का विरोध करे, कुछ नहीं होने वाला है। पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती का यह कहना कि जब तक हमें जम्मू कश्मीर का झंडा वापस नहीं मिलता तब तक हम तिरंगा नहीं थामेंगे यह उनके चरित्र को उजागर करता है। जिसके जो मन में आए वो कह ले लेकिन केन्द्र की मोदी सरकार ने जो एक बार फैसला ले लिया है वह बदल नहीं सकता।

Recent Posts

%d bloggers like this: