अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

हर-हर महादेव और जयश्री राम के नारे से गूंजा सदन

झारखंड विधानसभा में महंगाई और उससे उत्पन्न स्थिति पर विशेष वाद-विवाद के दौरान भाजपा का जोरदार हंगामा
रांची:- झारखंड विधानसभा के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन सोमवार को सभा में महंगाई और उससे उत्पन्न स्थिति पर विशेष चर्चा के दौरान भाजपा सदस्यों की ओर से जोरदार हंगामा किया गया। हंगामा कर रहे भाजपा के कई विधायक रिपोर्ट की कुर्सी पर चढ़कर नारेबाजी भी करते नजर आये। वहीं महिला रिपोर्टर की ईद-गिर्द हंगामा करने को लेकर स्पीकर को भी कड़ी टिप्पणी करनी पड़ी।
विधानसभा में भोजनावकाश के पश्चात दोपहर दो बजे सभा की कार्यवाही शुरू होने पर भाजपा के नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि 3 सितंबर को कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में महंगाई के साथ ही बेरोजगारी के मुद्दे पर भी चर्चा कराने का प्रस्ताव विपक्ष की ओर से रखा गया था, लेकिन आज सिर्फ महंगाई पर ही चर्चा करायी जा रही है। भाजपा के सीपी सिंह ने कहा कि कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में विपक्ष को सिर्फ शोभा का वस्तु नहीं बनाया जाना चाहिए, जब विपक्ष की ओर से महंगाई के साथ बेरोजगारी पर चर्चा की बात कही गयी, तो फिर आज दोनों ही विषयों पर चर्चा होनी चाहिए थी। उन्होंने बताया कि बैठक में आजसू पार्टी के सुदेश महतो की ओर से बेरोजगारी के मसले पर चर्चा कराये जाने का आग्रह किया गया था। आजसू पार्टी के सुदेश महतो ने बताया कि उनकी ओर से कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में बेरोजगारी और उद्योग पर भी चर्चा कराने का आग्रह किया गया था, क्योंकि अभी राज्य सरकार की ओर से कई निवेशकों के साथ एमओयू किया गया है। विधायक प्रदीप यादव ने कहा कि महंगाई पर चर्चा में ही बेरोजगारी समेत विषय निहित है और चर्चा में सारी बातें आ जाएगी, इसलिए चर्चा होने दें।
भाजपा सदस्यों के हंगामे के बीच ही विधानसभा अध्यक्ष ने महंगाई उससे उत्पन्न स्थिति पर विशेष वाद-विवाद चर्चा प्रारंभ करने को कहा। जिससे नाराज भाजपा के कई सदस्य वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। इस दौरान भाजपा के राज सिन्हा और अमर कुमारी बाउरी सचिव के टेबुल पर चढ़ गये, वहीं मनीष जायसवाल रिपोर्टर की कुर्सी पर चढ़कर नारेबाजी करने लगे। विपक्षी सदस्य आदिवासी विरोधी सरकार नहीं चलेगी, सरकार की मनमानी नहीं चलेगी। भाजपा सदस्यों के हंगामे के विरोध में कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा के भी कई सदस्य वेल में आ गये। कांग्रेस के इरफान अंसारी ने भाजपा विधायकों के इस आचरण पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि महिला रिपोर्टर के ईद-गिर्द भाजपा विधायकों का हंगामा करना उचित नहीं है। विधानसभा अध्यक्ष ने भी इस पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए भाजपा विधायकों को यह सख्त निर्देश दिया कि वह महिला रिपोर्टर के टेबुल-कुर्सी से दूर रहे। इसके बावजूद भाजपा सदस्यों का हंगामा जारी रहा।
सभा में विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच ही महंगाई और उससे उत्पन्न स्थिति पर विशेष वाद-विवाद की शुरुआत हुई। संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने चर्चा की शुरुआत की। जिसमें सत्तापक्ष की ओर से प्रदीप यादव, उमाशंकर अकेला और विनोद कुमार सिंह ने अपनी बातें रखी। लेकिन हंगामे के कारण कुछ भी सुनाई नहीं दिया। अंत में वित्तमंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव ने जैसे ही विशेष वाद-विवाद पर सरकार की ओर से जवाब देना शुरू किया, तो भाजपा सदस्यों ने हंगामा तेज कर दिया। सदन को अवस्थित देखकर विधानसभा अध्यक्ष ने सभा की कार्यवाही को मंगलवार पूर्वाह्न 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।

%d bloggers like this: