अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में जेएसएलपीएस से जुड़ी 3620 दीदियों को विभिन्न योजनाओं से जोड़ा गया


देवघर:- आपके अधिकार, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के निर्देशानुसार जेएसएलपीएस की दीदियों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में लगातार कार्य किया जा रहा है, ताकि स्वावलम्बी बनने के साथ-साथ ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को सशक्त बनाया जा सके। इस दिशा में जेएसलएलपीएस के सहयोग से गांव की गलियों से निकलीं महिलाएं कामयाबी की इबारत लिख रही हैं। सामाजिक बंधन भी बहुत थे, मगर जज्बा था कुछ कर गुजरने का। खुद आत्मनिर्भर बनना और दूसरों को स्वावलंबी बनाने की ठानकर ये महिलाएं आगे बढ़ीं। पहले घर में केवल पुरुष कमाया करते थे अब महिलाएं भी काम कर रही हैं। इससे परिवार का आय बढ़ रहा है। इस दिशा में ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार कई योजनाएं भी चला रही है। वहीं जिला प्रशासन और झाखण्ड स्टेट लाईवलीहुड प्रोमोशन सोसाईटी द्वारा महिला सशक्तिकरण को लेकर जमीनी स्तर पर कई कार्य भी किये जा रहे हैं।
इसके अलावे महिला सशक्तिकरण के लिए सरकार नई-नई योजना बना रही है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से सरकार उन्हें आर्थिक मदद दे रही है, जिससे वे स्वयं का कार्य शुरू कर सकें। राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही ऐसी ही योजना जिसका नाम फूलो झानो आशीर्वाद योजना है। इस योजना ने उन महिलाओं की किस्मत बदल दी जो मादक पदार्थ हड़िया, दारु आदि बेच कर अपनी आजीविका चला रही थीं। वहीं आपके अधिकार, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम के तहत अब तक कुल 44 महिलाओं को फुलो झानों आर्शीवाद योजना के लाभ से लाभान्वित किया गया है। वहीं इस योजना को ख़ास उन ग्रामीण महिलाओं के लिए तैयार किया गया है, जो मादक पदार्थ हड़िया, दारु आदि का व्यापार करती हैं। योजना का संचालन झारखंड ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा किया जाता है। एक सर्वे के माध्यम से ऐसी महिलाओं को चयनित किया जाता है जो मादक पदार्थों से सम्बंधित व्यापार में लिप्त हैं। सर्वे को सफलतापूर्वक अंजाम देने की जिम्मेदारी सखी मंडली की होती है। इन महिलाओं को यह व्यापार छोड़कर अपनी स्वेच्छा से दूसरे किसी वैकल्पिक व्यापार को शुरू करने हेतु आर्थिक सहायता समेत अन्य लाभ दिए जाते हैं।

फुलो झानो आर्शीवाद योजना का उद्देश्य…..
ग्रामीण क्षेत्रों में मादक पदार्थों के दुष्प्रभाव को कम करने के उद्देश्य से झारखंड सरकार ने इस योजना को शुरू किया है। साथ ही यह योजना मादक पदार्थ बेचने वाली महिलाओं के जीवन को भी सुधारने और उन्हें नई आजीविका प्रदान करने में भी मदद करेगी। योजना का लाभ लेने के लिए महिला को किसी भी प्रकार के आवेदन की आवश्यकता नहीं पड़ती। नव जीवन मिशन के तहत सखी मंडल सर्वे कर ग्रामीण क्षेत्र में मादक पदार्थों का व्यापार करने वाली महिलाओं का चुनाव कर लाभार्थी लिस्ट तैयार करती हैं। इसके साथी ही महिलाओं को झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी (जेएसएलपीएस) के तहत चल रहे आजीविका संवर्धन के अलग-अलग कार्यक्रमों से भी जोड़ा जाएगा।

इसके अलावे आपके अधिकार, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम के तहत देवघर जिला अन्तर्गत अब तक जेएसएलपीएस द्वारा चक्रिय निधि योजना में कुल 1536, सामुदायिक निवेश निधि योजना अन्तर्गत 480, प्रथम कैश क्रेडिट लिमिट अन्तर्गत 1140, द्वितीय कैश क्रेडिट लिमिट अन्तर्गत 420 एवं फुलो झानो आर्शीवाद योजना अन्तर्गत कुल 44 लाभुकों के बीच परिसम्पतियों का वितरण किया गया, जिसके तहत कुल 205.10 राशि का वितरण महिलाओं को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने की दिशा में किया गया है।

%d bloggers like this: