रांची:- झारखंड में
एक्सएलआरआइ जमशेदपुर में एक लेक्चर सेशन में रिसोर्स पर्सन के रूप में डेलॉइट कंसल्टिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के एमडी विशाल शर्मा ने कहा कि टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आर्टिशिफियल इंटेलीजेंस व मशीन लर्निंग की डिमांड कभी कम नहीं होने वाली है।
श्री शर्मा ने एमबीए करने के बाद डेलॉयट में अपने सफर के बारे में आज विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि किस प्रकार दैनिक जीवन में कंसल्टिंग व टेक्नोलॉजी ने लाइफ स्टाइल को आसान बना दिया है। उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि समय के साथ कैसे कंसल्टिंग एक बेहतर कैरियर के रूप में उभर कर सामने आया। उन्होंने कोविड -19 अवधि के उदाहरणों का हवाला दिया, कि कैसे टेक्नोलॉजी ने कंसल्टिंग और आईटी फर्मों को हेल्थ सर्विस उपलब्ध करवाने में ग्रामीण क्षेत्रों में भी मदद की। करोड़ों लोगों की जानें इससे बचायी जा सकी। कहा कि टेक्नोलॉजी की मदद से देश के सभी हिस्सों में टीकों का वितरण किया जा सका। कहा कि अब टेक्नोलॉजी एक बड़ा बाजार बन कर उभरा है जो कई मायने में पुराने बाजारों को बुरी तरह से प्रभावित कर रही है। इस दौरान इ मार्केटिंग सेक्टर का भी उदाहरण प्रस्तुत किया गया कि कैसे दुकानों से सामान खरीदने के बजाय यूथ इ शॉपिंग को ज्यादा पसंद कर रहे हैं।
श्री शर्मा ने ईएसजी के बारे में बताया कि कैसे हर फर्म ईएसजी के साथ अपनी रणनीतियों को संरेखित कर रही है। उन्होंने फर्म में शीर्ष नेतृत्व की भूमिका के साथ विविधता, समानता और समावेश के बारे में भी चर्चा की। इस दौरान कई विद्यार्थियों ने उनसे सवाल भी पूछे जिसका उन्होंने बखूबी जवाब दिया। इससे पहले कार्यक्रम की शुरुआत शिल्पिता पाणिग्रही के उद्घाटन भाषण से हुई।

Leave a Reply

%d bloggers like this: