अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की धूम कहीं भजन कीर्तन तो कहीं अनुष्ठान


रांची:- आज शहर में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की धूम है। कोरोना संक्रमण और सरकार के गाइडलाइन के कारण इस बार कोई बड़ा आयोजन नहीं हो रहा है। लेकिन कुछ मंदिरों और घरों पर लोग रात को होने वाली पूजा की तैयारी में लगे रहे। आज रात 12.30 बजे रोहिणी नक्षत्र में मंत्रोच्चार, भक्ति गीत एवं कृष्ण भजनों के बीच जन्मोत्सव मनाया जायेगा। कहीं, भजन कीर्तन तो कहीं अनुष्ठान हो रहे हैं। वहीं, श्रद्धालु आज सुबह से 24 घंटे का व्रत रखकर भगवान की आराधना कर रहे हैं। सुबह से ही जन्मोत्सव की धूम दिखायी दे रही है। पूजा के लिए मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है। रात के लिए मंदिरों में तो विशेष अनुष्ठान की तैयारी चल ही रही है। आज श्रद्धालु सात्विक भाव से अपने-अपने घरों में भी कान्हा के आगमन की खुशियां मना रहे है। इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर ऐसा ही योग बना है, जैसा उनके जन्म के समय था। पंडित बिपिन पांडेय के अनुसार ऐसा दुर्लभ योग भगवान का जब धरती पर अवतरण हुआ था। उस समय बना था। दिन सोमवार, अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र खास योग बना रहा है। इस योग का नाम जयंती योग है। पूजन के लिए रात 11.37 से 12.47 बजे तक विशेष शुभ मुहूर्त है। ज्योतिष गणना के अनुसार इस विशेष योग में कान्हा स्वरूप की पूजा-अर्चना से बिगड़े काम बनते हैं। जातक के सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

%d bloggers like this: