अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लगातार बढ़ रहा है इटावा सफारी पार्क का आकर्षण


इटावा:- चंबल की बदनाम छवि को बदलने के इरादे से उत्तर प्रदेश के बीहड़ों में स्थापित इटावा सफारी पार्क का आकर्षण देश दुनिया में लगातार बढ़ता ही चला जा रहा है।
सफारी पार्क के उप निदेशक अरुण कुमार सिंह ने बुधवार को बताया कि सफारी पार्क इसलिए भी बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह एशिया का एकमात्र ब्रीडिंग सेंटर है जिसके जरिए एशियाटिक शेरों की संख्या में इजाफा होना तय माना जा रहा है। फिलहाल इटावा सफारी पार्क में 18 शेर है इनमें से नौ अकेले इटावा सफारी पार्क में ही पैदा हुए हैं। तीन भालू भी यहां पर है लेकिन आगरा से एक दर्जन के आसपास भालुओं को लाया जाना है।
विश्व प्रसिद्ध ताजमहल वाले आगरा के पास होने के कारण पर्यटकों के लिए इटावा सफारी पार्क बेहद अहम है। एशिया के एक मात्र एशियाटिक शेरो का ब्रीडिंग सेंटर की स्थापना का मकसद शेरो की विलुप्त हो रही तादात में इजाफा करने का है। पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार में स्थापित किये गए इटावा सफारी पार्क का शुभारंभ एक जून 2017 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया है हालांकि अभी आधिकारिक तौर पर लाइव सफारी शुरू नहीं की गई है लेकिन पर्यटकों को शेर दिखाई जाना शुरू कर दिए गए हैं इससे पर्यटक आंनद का एहसास कर रहे है। आम पर्यटकों के लिए 24 नवम्बर 2019 को खोला गया। इटावा सफारी पार्क में काले हिरन का कुनबा बढ़ रहा है। हिरनो को भी रास आ रही सफारी की हवा इसलिए ही सफारी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।
काले हिरन को इटावा सफारी पार्क खूब रास आ रहा है,सुरक्षा और भोजन की प्रचुरता की बजह से इनकी वंश बेल बीते पांच साल 10 जोड़ों ने कुनबा अब 80 से अधिक हुए हो चुका है। इटावा सफारी पार्क के वर्ष 2016 में शुभारंभ में यहा बीस काले हिरन लाये जाने के बाद से अब तक चार गुना इनकी तादात हुई है। डियर सफारी में इनकी उछल कूद देखने के लिए दर्शको की भी संख्या में इजाफा होता जा रहा है । इस वन्य जीव की संख्या के साथ पर्यटकों के बढ़ाने से सफारी पार्क के अधिकारी भी उत्साहित हैं।

%d bloggers like this: