May 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

स्कार्पियो लूटकांड मामले में नामजद आरोपी की हाजत में हुई मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने जाम की सड़क

भागलपुर:- पुलिस जिला नवगछिया के बिहपुर झंडापुर ओपी हाजत में स्कार्पियो लूटकांड मामले में नामजद आरोपी बिहपुर थाना क्षेत्र के गौरीपुर निवासी 22 वर्षीय विभूति कुमार उर्फ मनीष कुमार की हुए मौत को लेकर बुधवार को मृतक के परिजनों और ग्रामीणों ने गौरीपुर के निकट सुबह पांच बजे से सड़क जाम कर दी। इस दौरान जाम कर रहे लोगों ने सड़क पर बांस और बल्ला लगाकर आगजनी भी की। साथ ही पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। सड़क जाम कर रहे लोग दोषी को चौबीस घंटे के अंदर गिरफ्तार करने, मृतक के आश्रितों को एक करोड़ रुपये मुआवजा देने और सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग कर रहे थे। जाम की सूचना फर एसडीओ इंजीनियर अखिलेश कुमार और एसडीपीओ दिलीप कुमार सदल बल के साथ मौके पर पहुंचे और जाम कर रहे लोगों को समझाने—बुझाने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण अपनी मांगों पर अड़े रहे। एसडीओ ने बताया कि मैंने मांग पत्र ले लिया है। सरकारी नियमों के अनुसार उसपर कार्यवाही होगी। हाजत में हुई मौत के मामले की भी जांच होगी। एसडीओ के आश्वासन के बाद तकरीबन दोपहर तीन बजे लोगों ने जाम हटाया। उल्लेखनीय है कि बिहपुर के झंडापुर ओपी हाजत में पिछले दिनों स्कार्पियो लूटकांड मामले में नामजद आरोपी बिहपुर थाना क्षेत्र के गौरीपुर निवासी 22 वर्षीय विभूति कुमार उर्फ मनीष कुमार की संदेहास्पद अवस्था में मौत हो गयी थी। पुलिस कर्मियों से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार अलसुबह उनलोगों ने थाने के हाजत में एक गमछे के फंदे के सहारे विभूति के शव को झूलते देखा। आनन—फानन में शव को नीचे उतार कर नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल भेजा गया जहां चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया। मृतक के गले के चारों तरफ काला दाग है जिससे प्रतीत होता है कि गले मे फंदा कसने से उसकी मौत हुई है, जबकि शरीर के कई हिस्सों पीठ, चेहरा, हाथ, एड़ी और नितम्बों पर भी चोट के निशान हैं। वरीय पदाधिकारियों के निर्देश पर भागलपुर मायागंज अस्पताल में मेडिकल बोर्ड द्वारा युवक का पोस्टमार्ट करवाया गया है। घटना प्रकाश में आते ही अल सुबह नवगछिया अनुमंडल अस्पताल और झंडापुर ओपी थाने को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था। कई थानों के पुलिस पदाधिकारियों, पुलिस कर्मियों, अतिरिक्त पुलिस बलों की तैनाती दोनों जगहों पर किया गया था। मृतक के छोटे भाई आहुति कुमार दास ने कहा कि सुबह झंडापुर पुलिस ने उन्हें फोन पर सूचना देते हुए कहा कि तुम्हारा भाई बहुत सीरियस है और अनुमंडल अस्पताल में हैं। छोटे भाई ने कहा कि जब वह अनुमंडल अस्पताल पहुंचे तो देखा कि उसका भाई अब इस दुनियां में नहीं रहा। मृतक के भाई ने कहा कि उसका भाई विभूति उर्फ मनीष गांव के ही फूलो मंडल की स्कॉर्पियो चलता था। 22 अप्रैल को ध्रुवगंज गांव से मड़वा गांव बारात गयी थी। इसी बारात में विभूति उर्फ मनीष बारात लेकर स्कॉर्पियो से मड़वा गांव गया था। बारात पहुंचने के बाद एक व्यक्ति ने मड़वा गांव से गौरीपुर गांव पहुंचा देने की बात कह कर स्कॉर्पियो पर सवार हुए और गौरीपुर गांव के पास पहले से ही घाट लगाये अपराधियों ने चालक बिभूति उर्फ मनीष को बंधक बना स्कार्पियो लूट ली और चालक को बेगुसराय के साहेबपुर कमाल में जा कर छोड़ दिया। मृतक के भाई ने कहा कि स्कार्पियो के मालिक ने लूट कांड में उसके भाई के विरूद्ध ही केस दर्ज कर दिया जिसके बाद 23 अप्रैल को पुलिस ने उसके भाई को गिरफ्तार कर लिया। फिर चार दिनों तक उसके भाई को टॉर्चर किया जाता रहा। मृतक के शरीर पर कई जगहों पर चोट को देखकर पता चलता है कि उसके भाई के साथ पुलिस ने काफी ज्यादती की है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: