January 18, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गुलाबी गेंद के टेस्ट में दम दिखाने उतरेगी टीम इंडिया

एडिलेड:- ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरुवार को गुलाबी गेंद से खेले जाने वाले पहले टेस्ट मैच में विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया मेजबान ऑस्ट्रेलिया को परास्त कर अपना दम दिखाने के इरादे से उतरेगी।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला गुरुवार से एडिलेड में खेला जाएगा। पहला मैच दिन-रात्रि है और इसे गुलाबी गेंद से खेला जाएगा। दोनों टीमों के बीच वनडे और टी-20 सीरीज खेली जा चुकी है। वनडे सीरीज को ऑस्ट्रेलिया ने 2-1 से जबकि टी-20 सीरीज भारत ने 2-1 से अपने नाम की थी। भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें टेस्ट में अपना दम दिखाने उतरेंगी। ऑस्ट्रेलिया आठवीं बार गुलाबी गेंद से खेलने उतरेगी जबकि भारतीय टीम का गुलाबी गेंद से यह दूसरा मुकाबला है। भारतीय टीम ने इससे पहले पिछले साल बंगलादेश के खिलाफ गुलाबी गेंद से टेस्ट मुकाबला खेला था। हालांकि विदेशी जमीन पर टीम इंडिया का गुलाबी गेंद से यह पहला मुकाबला है। भारत ने 2018-19 में आखिरी बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था और चार टेस्ट मैचों की सीरीज उसने 2-1 से अपने नाम की थी। पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे में भारतीय टीम को एडिलेड में जीत हासिल हुई थी और उसने कंगारु टीम को 31 रन से मात दी थी। इसके बाद मेलबोर्न टेस्ट में 137 रन से शिकस्त दी थी। टीम इंडिया को हालांकि पर्थ टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा था जबकि सिडनी में खेला गया चौथा टेस्ट ड्रॉ रहा था। टीम इंडिया इस रिकॉर्ड को बरकरार रख सीरीज की शुरुआत जीत से करना चाहेगी।भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के घरेलू मैदान में 12 सीरीज खेली है और उसे आठ में हार मिली है जबकि 2018-19 में पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी जमीन पर मात दी थी। दोनों टीमों के बीच तीन टेस्ट सीरीज ड्रॉ रही है। भारतीय टीम का मनोबल पिछले आंकड़ों को देखते हुए बढ़ेगा लेकिन पिछली बार ऑस्ट्रेलियाई टीम में सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ शामिल नहीं थे जो इस बार कंगारु टीम में हैं और भारत के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं। वार्नर हालांकि चोट के कारण पहले टेस्ट मैच से बाहर हैं जो भारत के लिए राहत की बात है। वार्नर ने पहले दो वनडे में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की थी और टीम इंडिया के गेंदबाजों को खासा परेशान किया था। लेकिन इसके बाद वह चोटिल हो गए और अबतक टीम में शामिल नहीं हो सके हैं। स्मिथ मंगलवार को पीठ में सूजन के कारण अभ्यास सत्र बीच में छोड़कर चले गए थे लेकिन ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने बताया कि वह फिट हैं और उनके पहले टेस्ट में खेलने की पूरी उम्मीद है। वार्नर की अनुपस्थिति में स्मिथ की भूमिका काफी अहम होगी। पहले टेस्ट में टीम इंडिया की ओर से सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल पर टीम को मजबूत शुरुआत दिलाने जिम्मेदारी होगी। रोहित शर्मा पहले टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे और उनकी अनुपस्थिति में इन बल्लेबाजों को अपना दम दिखाना होगा।कप्तान विराट पर भी बड़ी पारी खेल टीम को मजबूत स्कोर पर ले जाने की जिम्मेदारी होगी। विराट इस मुकाबले के बाद स्वदेश लौट जाएंगे और वह अवकाश पर जाने से पहले अपनी लय बरकरार रखना चाहेंगे। विराट ने ऑस्ट्रेलिया में खेले गए 12 टेस्ट मैचों में छह शतक जड़े हैं। ऐसे में उनसे टीम को बड़ी पारी की उम्मीद होगी। टीम के संकटमोचक कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा एक बार फिर बड़ी पारी खेलना चाहेंगे। पुजारा ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ अभ्यास में मिलाजुला प्रदर्शन किया था। उन्होंने पहले अभ्यास मैच की पहली पारी में 54 रन बनाए थे लेकिन वह दूसरी पारी में खाता खोले बिना आउट हो गए थे। हालांकि वह दूसरे अभ्यास मैच में नहीं खेले थे। पुजारा ने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे में शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने चार मैचों में 521 रन बनाए थे और तीन शतक जड़े थे। पुजारा एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के परेशानी खड़ी कर सकते हैं। वह लंबे समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से बाहर थे और पहले टेस्ट मैच से वह शानदार वापसी करना चाहेंगे। मध्यक्रम में टीम के उपकप्तान अजिंक्या रहाणे और हनुमा पर टीम की पारी को आगे बढ़ाने और संकट के समय जिम्मेदारी निभाने की जिम्मेदारी होगी। रहाणे ने अभ्यास मैच में बेहतरीन प्रदर्शन किया था। रहाणे ने अभ्यास मैच में नाबाद 117, 28, 4 और 38 रन बनाए थे जबकि हनुमा ने अभ्यास मैच में 15, 28, 15 और नाबाद 104 रन बनाए थे। इस मुकाबले के लिए टीम में अनुभवी रिद्धिमान साहा को विकेटकीपर के रुप में शामिल किया गया है और रिषभ पंत की तुलना में उन्हें मौका दिया गया है। गेंदबाजी में एक बार फिर मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह पर जिम्मेदारी होगी जबकि तीसरे गेंदबाज के रूप में उमेश यादव जैसा अनुभवी गेंदबाज के होने से टीम का गेंदबाजी आक्रमण मजबूत होगा। टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा चोट के कारण इस सीरीज में नहीं खेल रहे हैं लेकिन भारतीय टीम के उपकप्तान रहाणे का मानना है कि उनकी अनुपस्थिति के बावजूद टीम का गेंदबाजी आक्रमण कंगारु टीम को चुनौती देने में सक्षम है। स्पिन विभाग का जिम्मा अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन पर होगा। अश्विन टीम के अनुभवी स्पिनर हैं और टेस्ट टीम में उनकी भूमिका भारत के लिए काफी महत्वपूर्ण है। दूसरी ओर चोट से जूझ रही ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत के खिलाफ पिछले दौरे को भुलाकर नयी शुरुआत करना चाहेगी और टीम इंडिया पर पहले मैच से ही दबाव बनाने की कोशिश करेगी। ऑस्ट्रेलिया की ओर से जो बर्नस, स्मिथ, विल पुकोवस्की, मार्नस लबुशेन, टिम पेन पर बल्लेबाजी की जिम्मेदारी होगी। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने टेस्ट सीरीज के लिए ऑलराउंडर मोएसिस हेनरिक्स को शामिल किया है। गेंदबाजी में पैट कमिंस, जोश हेजलवुड, मिशेल स्टार्क, जेम्स पैटिनसन और नाथन लियॉन पर जिम्मेदारी होगी। एडिलेड में मौसम साफ रहने की संभावना है और बारिश का अनुमान बेहद कम है।इससे मैच में देरी होने की उम्मीद नहीं है। हालांकि गुरुवार, रविवार और सोमवार को 10 फीसदी बारिश का अनुमान जताया गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: