अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सैयद अफसर शाह को कार्यालय प्रभारी बनाया गया

रांची:- रांची जिला ग्रामीण कांग्रेस कमिटी कार्यालय में आज पूर्व मंत्री सुबोध कांत सहाय के द्वारा सैयद अफसर शाह को रांची जिला ग्रामीण कांग्रेस कमिटी के कार्यालय प्रभारी के रूप में प्रभार हेतु पत्र सौपा गया।
पूर्व मंत्री के द्वारा प्रभार पत्र प्रदान करने के अवसर पर ग्रामीण प्रवक्ता जितेंद्र त्रिवेदी ने कहा कि काफी पुराने अनुभव भी कांग्रेसी हैं वे अपने तजुर्बे से संगठन को मजबूती प्रदान करेंगे एवं कार्यालय को अनुशासन में रखते हुए कार्यकर्ताओं को यथासंभव मदद करेंगे।
श्री शाह ने कार्यालय प्रभारी का प्रभार ग्रहण करते हुये कहा कि रांची जिला ग्रामीण कांग्रेस कमिटी द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के कांग्रेसजनों के साथ बेहतर समन्वय बनाते हुये। जन समस्याओं के समाधान को प्राथमिक्ता दी जायेगी।
इस मौके पर तपेश्वर केशरी, फिरोज रिजवी मुन्ना, सुधीर सिंह, राम देव सिंह, प्रभात कुमार, सहित अन्य गा्रमीण कांग्रेसजन ने बधाई दी।

झारखंड ऊर्जा विकास श्रमिक संघ की वर्चुअल बैठक में आज कई महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया । संघ की बैठक वर्चुअल गूगल ऐप के माध्यम से संघ के केंद्रीय अध्यक्ष अजय राय की अध्यक्षता में हुई। जिसमें रांची, धनबाद, जमशेदपुर, गिरिडीह , हजारीबाग मेदिनीनगर, दुमका एरिया बोर्ड एवंम ट्रांसमिशन जोन के सदस्यों ने भाग लिया।
बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि जे. यू. वी. एन. एल द्वारा निकाले जाने वाले नियुक्ति में पूर्व से कार्यरत मानव दिवस कर्मियों के लिए प्राथमिकता तय हो। 2017 से लागू आउटसोर्स बंद कर पूर्व की भांति जे. यू .वी. एन. एल मानव दिवस कर्मी की सेवा बहाल करे। 2017 से लेकर 2021 तक बकाया एरियर का भुगतान सुनिश्चित हो। कर्मियों को मिलने वाला पुराना रेट जो कंपनी दे रहा है अकुशल श्रमिक के लिए 8571.78 रुपया और कुशल श्रमिक के लिए पुराना रेट 11935.06 रुपया देने के आदेश को अविलंग लागू किया जाए।
इस अवसर पर अजय राय ने कहा कि झारखंड ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड द्वारा वर्ष 2017 में मानव दिवस की प्रथा समाप्त कर आउट सोर्स एजेंसी की प्रथा शुरू की गई । तब से लेकर वर्ष 20-21 तक लगभग राज्य के सभी एरिया बोर्ड व ट्रांसमिशन जोन में कर्मचारियों के हालात बद से बदतर होते चले गए । अपनी जान जोखिम में डालकर एक एक कर्मचारी लगातार अपनी सेवा निगम को देते आ रहे हैं मगर इन्हें उसका मेहनताना सही तरीके से नहीं मिल पा रहा है ।
अजय राय ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के अधीन ऊर्जा विभाग का हाल, कोरोना के दौरान दर्जनों साथियों ने अपनी जाने गवाई है मगर उनके परिवार को अभी तक कहीं कोई मुआवजा या सहायता राशि नहीं दी गई वही
वर्तमान में झारखंड के सभी सप्लाई एरिया बोर्ड और ट्रांसमिशन जोन में कर्मचारियों को तीन माह से लेकर सात माह तक का वेतन ,ईपीएफ, ईएसआइ लंबित है वही ट्रांसमिशन जोन में अवधि विस्तार नही होने से कर्मचारियों को वेतन भी नहीं मिल पा रहा है। वर्तमान में कही कोई घटना दुर्घटना होने पर जवाबदेही किसकी होगी? यह भी गंभीर मामला है।
2017 से 2021 तक राज्य सरकार के श्रम विभाग द्वारा मंहगाई भत्ता और दर में बढ़ोतरी की गई मगर अभी तक उसका बढ़ा हुआ एरियर का भुगतान भी विभाग की ओर से नही की गई जबकि इस मुद्दे को लेकर संघ की ओर से कई पत्र और आंदोलन के माध्यम से भी निगम को ध्यान आकर्षित कराया गया है ।
बैठक में अध्यक्ष अजय राय, महामंत्री अमित कुमार शुक्ला, वरुण चंद्र ,आलोक चौबे, धीरेंद्र यादव ,मनु भगवान मिश्रा ,कुणाल सिंह, संतोष मिश्रा, विश्राम उरांव,वीरेंद्र कुमार, दिलीप कुमार, धर्मेश उरांव, दिनेश कुमार ,दिनेश महतो ,जलेश्वर महतो, राकेश उरांव ,प्रिंस कुमार, राज विनय कुमार, शैलेंद्र कुमार ,शशि लोहरा ,सरवन भगत, सोनू ठाकुर ,सुधाकर मिश्रा ,उदय कुमार ,विक्की मेहता, योगेंद्र योगी, प्रमोद कुमार ,प्रभाकर कुमार राय ,दिनेश कुमार ,पवन प्रसाद ,दिलीप कुमार, उदय यादव सहित सैकड़ों कर्मी शामिल हुए।

%d bloggers like this: