अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सुप्रीम कोर्ट ने उच्च न्यायालयों में पहली बार की सबसे बड़े फेरबदल की सिफारिश


नई दिल्ली:- सुप्रीम कोर्ट ने उच्च न्यायालयों में पहली बार सबसे बड़ा फेरबदल किया। दरअसल, भारत के प्रधान न्यायाधीश एनवी रमन्ना की अगुवाई में सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने शुक्रवार को उच्च न्यायालयों के 41 न्यायाधीशों की भूमिका में बदलाव की सिफारिश की है।
कॉलेजियम ने हाईकोर्ट के 8 जजों को अलग-अलग उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीश और HC के 5 चीफ जस्टिस को किसी अन्य HC का प्रमुख बनाने की सिफारिश की गई है।
एक रिपोर्ट के मुताबिक, जस्टिस यूयू ललित, एएम खानविलकर, डीवाई चंद्रचूड़ और एलएन राव भी इस कॉलेजियम में शामिल थे। इस दौरान 28 HC जजों के तबादले करने की भी सिफारिश की गई है। कॉलेजियम की तरफ से दिए गए 41 नामों में 13 हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस हैं और 28 जज हैं।
इन जजों के लिए की गई सिफारिश
वहीं, कलकत्ता हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल को इलाहबाद हाईकोर्ट का चीफ जस्टिस बनाने की सिफारिश की गई है। तो त्रिपुरा HC के प्रमुख अकील कुरैशी का तबादला राजस्थान करने की बात कही गई है। ट्रांसफर किए गए 4 अन्य चीफ जस्टिस में जस्टिस अरूप कुमार गोस्वामी (आंध्र प्रदेश HC से छत्तीसगढ़ HC), मोहम्मद रफीक (मध्य प्रदेश HC से हिमाचल प्रदेश HC), जस्टिस इंद्रजीत महंती (राजस्थान HC से त्रिपुरा HC) और जस्टिस विश्वनाथ (मेघालय HC से सिक्किम HC) का नाम शामिल है।
मध्य प्रदेश HC के सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव को कलकत्ता हाईकोर्ट का प्रमुख बनाने की सिफारिश की गई है। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश को चीफ जस्टिश के तौर पर आंध्र प्रदेश भेजने की बात कही गई है।इलाहबाद HC की जस्टिस ऋतुराज अवस्थी को कर्नाटक HC का मुख्य न्यायाधीश, जस्टिश सतीश चंद्र शर्मा को तेलंगाना HC की प्रमुख बनाने की सिफारिश सुप्रीम कोर्ट की तरफ से की गई है।
मेघालय HC के सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश रंजीत वी मोरे को मेघालय का चीफ जस्टिस, कर्नाटक HC में जज अरविंद कुमार को गुजरात HC का मुख्य न्यायाधीश, हिमाचल प्रदेश में कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश रवि विजयकुमार मलीमथ को मध्य प्रदेश हाईकोर्ट का प्रमुख बनाने की सिफारिश की गई है।

%d bloggers like this: