अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

तीसरी रेलवे लाइन बिछा कंपनी से सुजीत सिन्हा ने मांगी दो प्रतिशत रंगदारी


नहीं देने पर चलवायी थी सिविल इंजीनियर पर गोली, यूपी का अपराधी गिरफ्तार
मेदिनीनगर:- पूर्व मध्य रेलवे के गढ़वा रोड-सोननगर रेलखंड पर हैदरनगर रेलवे स्टेशन के सिमरसोत में तीसरी लाइन बिछा रही निर्माण कंपनी के इंजीनियर पर गोली चालन की घटना का खुलासा करीब-करीब पुलिस ने कर लिया है। इसके तार उतरप्रदेश से जुड़े हैं। कुख्यात अपराधी सरगना सुजीत सिन्हा ने जेल में रहते हुए यूपी के अपराधी से अमन साहू के दो गुर्गो से इस गोलीकांड को अंजाम दिलवाया था।
पलामू के पुलिस अधीक्षक चंदन कुमार सिन्हा ने सोमवार को पत्रकार सम्मेलन में जानकारी दी कि पांच अक्टूबर को अशोका बिल्डकॉन लिमिटेड कंपनी, जो तीसरी लाइन का निर्माण करा रही है, रंगदारी की मांग को लेकर अमन साहू गैंग के दो अज्ञात बाइक सवारों ने कंपनी के सिविल इंजीनियर विरेन्द्र कुमार पर जानलेवा हमला किया था एवं उसे गोली मार दी थी।
इस पूरे मामले में पुलिस ने उतर प्रदेश से एक अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस पूरे गोलीकांड के पीछे सुजीत सिन्हा का नाम सामने आया है। उन्होंने बताया कि अभिषेक पांडे उर्फ पंडित जो उतर प्रदेश के बांदा जिले के कोतवाली नगर थाना क्षेत्र के स्टेशन रोड का रहने वाला है। उसने बताया कि उसे वीपीएम कॉल से सुजीत सिन्हा निर्देशित करता था। इसके बाद वह पूरे घटना को सुनियोजित ढंग से संपन्न कराता था।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रांची के अरगोड़ा थाना कांड संख्या 281/21 के आरोपी अमित चौधरी को रांची पुलिस ने गिरफ्तार किया था। वह गढ़वा जिले के हरिहरपुर थाना क्षेत्र के मेरौनी का रहने वाला है। उसने अपने स्वीकारोक्ति बयान में इंजीनियर पर गोली चालन की घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपी ने जानकारी दी है कि कंपनी से सुजीत सिन्हां गिरोह ने दो प्रतिशत यानि करोड़ो रूपए रंगदारी के रूप में मांग रखे हैं।
एसपी ने बताया कि अभिषेक पांडे के पास से घटना के लिए प्रयुक्ति मोबाइल जब्त किया गया है, जिसमें इस घटना से संबंधित अहम सुराग तथा साक्ष्य प्राप्त हुआ है, जिसे तकनीकी विशलेषन पर कार्रवाई की जायेगी।

%d bloggers like this: