April 14, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ऐसा एतिहासिक दिन रोज-रोज नहीं आताःशास्त्री

ब्रिस्बेन:- भारतीय टीम के प्रमुख कोच रवि शास्त्री ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गाबा टेस्ट में मिली शानदार जीत के बाद ड्रेसिंग रुम में टीम के सभी खिलाड़ियों और स्पोर्ट स्टाफ की जमकर सराहना करते हुए कहा कि ऐसा ऐतिहासिक दिन रोज-रोज नहीं आता है।
भारत ने मंगलवार को ब्रिस्बेन के गाबा में चौथे और अंतिम टेस्ट के पांचवें और अंतिम दिन 328 रन के मुश्किल लक्ष्य का सफल पीछा करते हुए तीन विकेट से जीत हासिल की। भारत ने चार मैचों की सीरीज को 2-1 से जीता और बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर अपना कब्जा बरकरार रखा।
भारतीय कोच शास्त्री ने गाबा टेस्ट की ऐतिहासिक जीत के बाद टीम को ड्रेसिंग रुम में सभी खिलाड़ियों और स्टाफ की सराहना करते हुए प्रेरक संदेश दिया और सभी का उत्साह बढाया। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इन लम्हों का एक वीडियो जारी किया है जिसमें शास्त्री सभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन की जमकर सराहना कर रहे हैं।
शास्त्री ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा, “एडिलेड में 36 रन पर आउट होने के बाद आप सभी ने जिस तरह मेलबोर्न, सिडनी और ब्रिस्बेन में वापसी की, वह आपके जजबे, साहस और प्रतिबद्धता को दर्शाता है। पूरे देश को आप सभी पर गर्व है और हम आपको सलाम करते हैं।”
कोच ने खिलाड़ियों की सराहना करते हुए कहा, “आप सभी इस दिन का आनंद लें क्योंकि इस तरह की ऐतिहासिक चीजें रोज-रोज नहीं होती हैं। यह एक बड़ी कामयाबी है जिसके लिए पूरे देश को आप पर गर्व है। आपने विपरीत परिस्थितियों में मजबूत ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ जिस तरह का प्रदर्शन किया वह काबिले तारीफ है।”

शास्त्री ने विशेष रुप से कुछ खिलाड़ियों के नाम भी लिए और उनके प्रयासों को सराहा। उन्होंने सबसे पहले युवा सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल की तारीफ करते हुए कहा कि उनका प्रयास जबरदस्त था। शास्त्री ने जैसे ही यह शब्द कहे मोहम्मद सिराज ने शुभमन का सिर थपथपा दिया। शुभमन ने लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की दूसरी पारी में 91 रन बनाए थे और जीत की आधारशीला रखी थी।
शास्त्री ने जुझारु बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को जैसे ही अल्टीमेट वॉरियर कहा पुजारा ने मुस्कुराते हुए अपना हाथ उठाकर सभी का अभिवादन किया। कोच ने नाबाद 89 रन की मैच विजयी पारी खेलने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत की पारी को अभूतपूर्व बताया और कहा कि उनकी ऐसी पारी से विपक्षी टीम को हार्ट अटैक आता है। शास्त्री का यह कहना था कि पंत शर्मा गए और उन्होंने एक साथ खिलाड़ी के कंधे पर अपना सिर रख दिया।
कोच ने कप्तान अजिंक्या रहाणे की विशेष रुप से तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने प्रतिकूल हालात में टीम का बखूबी नेतृत्व किया और अपने प्रदर्शन से और अपनी कप्तानी से टीम को ऐसा संभाला कि उसने सीरीज जीत ली। उन्होंने तीन पदार्पण करने वाले खिलाड़ियों की सराहना करते हुए कहा, “नट्टू (टी नटराजन), वाशी (वाशिंगटन सुंदर) और शार्दुल (ठाकुर) की यह पारी के प्रयास जबरदस्त थे इससे टीम को जीतने का हौसला मिला।”
उन्होंने टीम के स्पोर्ट स्टाफ और खासतौर पर फिजियो की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने सभी खिलाड़ियों को फिट बनाए रखा है। शास्त्री के यह कहते ही सभी खिलाड़ियों ने तालियां बजाते हुए फिजियो के प्रति अपना सम्मान व्यक्त किया।
भारतीय कोच ने अंत में कहा, “आप सभी इस दिन का आनंद लें क्योंकि इस तरह की चीजें रोज-रोज नहीं होती।”

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: