June 14, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अंतर्राज्यीय व अंतरजिला चेक पोष्ट पर सख्ती व सावधानी से संक्रमण पर शीघ्र नियंत्रण पाने में मिलेगी सफलताः आयुक्त

चेक पोस्ट से आवाजाही पर रखें विशेष नजरः डीआईजी

मेदिनीनगर:- स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अनुपालन एवं पलामू प्रमंडलक्षेत्र में कोविड-19 संक्रमण के संभाव्य प्रसार को नियंत्रित करने के उद्देश्य से आज आयुक्त जटाशंकर चैधरी एवं डीआईजी राजकुमार लकड़ा ने अंतर्राज्यीय एवं अंतरजिला चेकपोस्ट मनातू का निरीक्षण किया। साथ ही मनातू के करमाही गांव पहुंचे और जायजा लिया। करमाही बिहार राज्य की सीमा है। यह गांव बिहार के गया जिले के सलईया गांव से सटा है। इसके अलावा जैप-8 के मसुरिया पीकेट का भी अवलोकन किया।
चेकपोस्ट का जायजा लेने के क्रम में आयुक्त ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के संभाव्य प्रसार को नियंत्रित करने को लेकर पलामू प्रमंडल के तीनों जिले पलामू, गढ़वा एवं लातेहार के स्थानीय जिला प्रशासन तत्पर है। प्रशासन सक्रियता के साथ कार्य कर रही है, ताकि संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि चेक पोष्ट पर विशेष चैकसी बरतना आवश्यक है, ताकि संक्रमण से लोगों को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि चेकपोस्ट पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस बलों की सख्ती से संक्रमण के खतरे से बचा जा सकता है। आयुक्त ने चेकपोस्ट पर पूरी सख्ती बरतते हुए दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों का चेकपोस्ट पर ही कोविड जांच करने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि चेकपोस्ट पर ही जांच की व्यवस्था से संक्रमण का पता लगाने एवं दूसरे व्यक्ति को संक्रमण से बचाने में सहूलियत होती है। साथ ही व्यक्ति में जब संक्रमण का पता चल जाता है, तो उनका तत्काल इलाज संभव होता है। इससे मरीज को गंभीर होने के पूर्व ही स्वस्थ हो जाता है और जान-माल की भी हानि नहीं होती। समय पर इलाज से मरीज के परिजनों को भी अनावश्यक परेशानी नहीं होती है। उन्होंने चेकपोस्ट से आवागमण एवं अन्य गतिविधियों पर कड़ाई से नजर रखने का निदेश दिया। ई-पास चेक करने एवं मास्क की गहणता से जांच करने का निदेश दिया।
आयुक्त ने आमजनों से भी कोविड-19 से बचाव को लेकर टीकाकरण करने, संक्रमण से बचने के लिए एहतियायत बरतते हुए मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने, सैनिटाइजर या साबुन-पानी से हाथों की सफाई करते रहने, भीड़ नहीं लगाने एवं अन्य एहतियायत बरतने की अपील की। साथ ही संक्रमण के इस दौर में स्थानीय प्रशासन को सहयोग कर कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने में सहभागी बनने की अपील की। उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन द्वारा टीकाकरण एवं संक्रमण से बचाव के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं। व्यक्ति में स्वयं की जागरूकता जरूरी है। इससे संक्रमण को नियंत्रण करने में सफलता मिलेगी।
आयुक्त ने टीकाकरण को लेकर किसी अफवाह या अंधविश्वास में नहीं पड़ने की बातें कही है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण सुरक्षित है। टीका लेने से संक्रमण का खतरा कम रहता है। उन्होंने कहा कि जीवन अनमोल है, इसे सुरक्षित रखना खुद की जिम्मेदारी है। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए सरकार के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन सक्रियता से कार्य कर रही है। राज्य सरकार द्वारा स्वास्थ सुरक्षा कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसके गाइडलाइन का अनुपालन करना आवश्यक है। उन्होंने गाइडलाइन का सख्ती से अनुपालन करने का निदेश दिया है।

डीआईजी ने कहा कि राज्य सरकार के गाइडलाइन का सभी सख्ती से अनुपालन करना सुनिश्चित करें। जिला, प्रमंडलवासियों एवं स्थानीय व्यक्ति को संक्रमण से बचाना चेकपोस्ट पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं जवानों की ज्यादा जिम्मेदारी है। वे पूरी मुस्तैदी से कर्तव्य पालन का निदेश दिया। उन्होंने राज्य सरकार के गाइडलाइन का सखती से अनुपालन कर लोगों को संक्रमण से बचाव का निदेश दिया।
आयुक्त जटाशंकर चैधरी एवं डीआईजी राजकुमार लकड़ा के साथ निरीक्षण के मौके पर डीएसपी आलोक कुमार टुटी एवं मनातू थाना प्रभारी संतोष कुमार सिंह थे। वहीं मनातू चेकपोस्ट पर दंडाधिकारी रंजीत कुमार एवं पुलिस जवान तैनात थे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: