अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोविड से बचाव के उपायों को सख्ती से लागू करें राज्य: गृह मंत्रालय

नयी दिल्ली:- देश के कुछ हिस्सों विशेष रूप से पर्वतीय क्षेत्रों के पर्यटन स्थलों , सार्वजनिक परिवहन, दुकानों और मॉल में बढ रही भीड़ के मामलों को गंभीरता से लेते हुए केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से कोविड से बचाव के सभी एहतियाती उपायों को सख्ती से लागू करने को कहा है। केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर कहा है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है इसलिए किसी तरह की कोताही या ढिलाई बरतना खतरनाक साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आने के साथ ही राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों ने चरणबद्ध तरीके से गतिविधि शुरू कर दी हैं लेकिन यह जरूरी है कि इस दौरान किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरतनी है। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा निर्देशों के उल्लंघन के कारण किसी भी क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के मामले बढने पर वहां तुरंत पाबंदियां लागू करनी होगी और इसके लिए वह प्रतिष्ठान, परिसर या दुकान आदि को ही जिम्मेदार माना जायेगा। इस तरह के मामलों में दोषियों के खिलाफ संबंधित कानूनों के तहत कार्रवाई भी की जायेगी। गृह मंत्रालय ने दोहराया है कि जिस क्षेत्र में पाबंदी लगायी जाती है उस क्षेत्र के अधिकारी को ही लापरवाही के लिए जिम्मेदार भी ठहराया जायेगा। पत्र में कहा गया है कि देश के कई हिस्सों विशेष रूप से सार्वजनिक परिवहन और पर्वतीय क्षेत्रों के पर्यटन स्थलों पर कोरोना से बचाव के उपायों की अनदेखी की जा रही है जो चिंता का विषय है क्योंकि इससे एक बार फिर संक्रमण बढने का खतरा पैदा हो सकता है। पत्र में कहा गया है कि दुकानों , मॉल, बाजारों , साप्ताहिक बाजारों , रेस्त्रां, बार, मंडियों , बस स्टेशनों , रेलवे स्टेशनों, जिम , विवाह स्थलों आदि में कोविड उपयुक्त व्यहवार को लागू करना संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी होगी। पत्र में इस बात पर विशेष रूप से जोर दिया गया है कि कोरोना टीकाकरण की प्रक्रिया गति पकड रही है लेकिन हमें किसी तरह की ढिलाई नहीं बरतनी है और कोविड उपयुक्त व्यवहार को ‘दवाई भी कडाई भी’ के मंत्र के साथ सख्ती से लागू करना है। उन्होंने कहा कि कोरोना जांच की दर में भी किसी तरह की कमी नहीं लानी है। पत्र में कहा गया है कि भले ही पोजीटीविटी दर में कमी आ रही हो लेकिन हमें यह सुनिश्चित करने की कोशिश करनी है कि संक्रमण के मामले दोबारा न बढें। इसके लिए टेस्ट, ट्रेक, ट्रीट, टीकाकरण और कोविड उपयुक्त व्यवहार को लागू करने की पांच सूत्री रणनीति पर काम करना होगा। गृह सचिव ने सभी मुख्य सचिवों से कहा है कि वे जिला अधिकारियों तथा स्थानीय अधिकारियों को भीड़ भाड़ नियंत्रित करने के सभी उपाय लागू करने के निर्देश दें। उन्होंने कहा कि इसके अलावा सामाजिक दूरी बनाये रखने, मास्क लगाने तथा कोविड उपयुक्त व्यवहार के बारे में सभी लोगों को प्रचार माध्यमों के जरिये जागरूक किया जाना चाहिए।

%d bloggers like this: