पटना:- बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा और सरकार ने अग्निपथ योजना पर बहस की मांग नहीं माने जाने के बाद सदन का बहिष्कार कर चुके विपक्षी सदस्यों से सभा की कार्यवाही में उपस्थित होने का आग्रह किया।
सभाध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने बुधवार को प्रश्नकाल की कार्यवाही के बीच विपक्षी सदस्यों से सदन में उपस्थित होने का अनुरोध करते हुए कहा कि यह राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता और शिकायतों को निपटाने का स्थान नहीं है। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में सदन जनता की भावनाओं का केंद्र होता है और सदस्य विभिन्न राजनीतिक विचारधाराओं से संबंधित होने के बाद भी लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं।
श्री सिन्हा ने कहा कि इस सदन ने उन सदस्यों को विशेष पहचान दी है जो लोगों के हित में निर्धारित नियमों और सिद्धांतों का पालन करने के लिए बाध्य हैं ताकि सदन पर उनका विश्वास बना रहे। उन्होंने सदस्यों से अपील की कि वे सदन को प्रतिद्वंद्विता का शिकार न बनने दें और सदन के बाहर कोई भी बयान जारी करने से परहेज करें क्योंकि इससे गलत संदेश जाता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: