अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आईवीएफ तकनीक से बांझपन की समस्या का समाधान डॉ. दास लेप्रोस्कोपी एंड रिसर्च सेंटर में

धनबाद:- डॉ. एसके दास विशेषज्ञ (कैंसर एंड लेप्रोस्कोपिक सर्जन) तथा डॉ. अर्पिता दास (आईवीएफ स्पेशलिस्ट ) ने सोमवार को हरि मन्दिर रोड स्थित डॉ. दास लेप्रोस्कोपिक एंड इनफर्टिलिटी रिसर्च सेंटर में आयोजित प्रेस वार्ता में बांझपन के कारण व निदान पर प्रकाश डाला। बताया बांझपन एक ऐसी स्थिति है जिसमें एक दंपति एक साल तक असुरक्षित यौन संबंध रखने के बावजूद स्वभाविक रूप से गर्भ धारण करनें में असमर्थ होता है। बांझपन को शुरू से महिला केंद्रित मुद्दा ही माना जाता रहा है जबकि एक अध्ययन के अनुसार बांझपन के मामलों में 37 प्रतिशत पुरुष , 38 प्रतिशत महिला और शेष 25 प्रतिशत अज्ञात कारणों के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। आज प्रजनन विषकक्ता रासायनिक पदार्थो से जुड़ा एक खतरा जो प्रजनन में बाधा डालता है। आज के वर्तमान परिस्थिति में पुरुषों में बांझपन की वजह अंडर गारमेंट्स का इस्तेमाल , सेल फोन , लंबे समय तक वाहन चलाते रहना आदि है। चूंकि इस क्रिया में अंडकोश का तापमान बढ़ जाने शुक्राणुओं का उत्पादन कम हो जाता है। धूम्रपान , अत्यधिक शराब का सेवन भी पुरुषों में बांझपन की मुख्य वजह है। वैसे मैं इससे निजात के लिए लिए व्यापक सावधानी जरूरी है आईवीएफ तकनीक बांझपन की समस्या का स्थाई समाधान के रूप में सर्वाधिक लोकप्रिय हो रहा है और इसकी इलाज की सुविधा अब डॉक्टर दास लेप्रोस्कोपिक एंड इनफर्टिलिटी रिसर्च सेंटर धनबाद में उपलब्ध है कम खर्च में पीड़ित दंपती संतान सुख पा सकते हैं

%d bloggers like this: