January 23, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झारखंड में अब तक 87 ट्रूनेट मशीनों की स्थापना हुई – स्वास्थ्य सचिव

8.14लाख प्रवासी श्रमिकों की हुई घर वापसी

राँची:- स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने कहा है कि राज्य में अब तक 87 ट्रूनेट मशीनों को स्थापित किया जा चुका है जबकि 100 अन्य ट्रूनेट मशीनों की स्थापना के लिये प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के कई अस्पतालों में तत्काल जांच प्रारंभ की जा चुकी है साथ ही सभी जिलों में ज्यादा से ज्यादा बेड का इंतजाम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में राज्य में 6.1 प्रतिशत का ग्रोथ रेट है जो पूरे देश के अनुपात में ज्यादा बेहतर है। उन्होंने कहा कि राज्य में कोविड-19 के संक्रमण विस्तार को रोकने के लिये व्यापक तैयारियां की गयी हैं। वह सोमवार प्रोजेक्ट बिल्डिंग के सभागार में प्रेस वार्ता में पत्रकारो को संबोधित कर रहे थे।
कुलकर्णी ने कहा कि राज्य में 26जुलाई तक कुल 8479 कोरोना पॉजिटिव के मामले आये हैं जिनमें से 4689 एक्टिव केस हैं जबकि 3704 लोग रिकवर हो चुके हैं। बाकी के 4050 मामलों में से 23 मरीज ऑक्सीजन सपोर्टेड तथा 22 मरीजों का वैंटीलेटर्स सपोर्ट के माध्यम से इलाज किया जा रहा है।
प्रधान सचिव ने बताया कि कोविड-19 के जांच के लिए इस सप्ताह कई और लैब फंक्शनल हो जायेंगे तथा निजी लैब को भी कोविड-19 की जांच की मंजूरी दे दी गयी है। उन्होंने बताया कि राज्य में कुल 6922 नॉर्मल आईसोलेशन बेड की व्यवस्था की गयी है। जिनमें से डेडीकेटेड कोविड के 2411 बेड उपलब्ध हैं। जिनमें 1956 ऑक्सीजन सपोर्टेड तथा 58 वेंटीलेंटर सपोर्टेड बेड उपलब्ध हैं। राज्य में कुल 270 वैंटीलेंटर उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न होटल में आकस्मिक स्थिति हेतु कुल 93 कमरों को रिजर्व रखा गया है। साथ ही उन्होंने बताया कि डेडीकेटेड कोविड अस्पतालों में कुल 1154 बेड तैयार किये गए हैं जिनमें से 373 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड तथा 204 वेंटीलेटर सपोर्टेड बेड की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने बताया कि कोविड के मरीजों के लिये खेलगांव में 500 बेड का प्लान तैयार किया गया है जिसपर जल्द ही काम शुरू कर दिया जायेगा।
आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल ने बताया कि राज्य में अब तक विभिन्न माध्यमों यथा स्पेशल ट्रेन, हवाई मार्ग एवं बसों व अन्य संसाधनों से कुल 8 लाख 14 हजार 715 लोगों को दूसरे राज्य एवं विदेशों से वापस आये हैं। इनमें से 5 लाख 44 हजार 96 प्रवासी मजदूर शामिल हैं। अब तक कुल 263 स्पेशल ट्रेन चलाई गयी हैं। उन्होंने कहा कि अब तक राज्य में 1072 क्वारंटाइन जोन अधिसूचित किये गये हैं। जिनमें से 705 कार्यरत हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: