जेनेटिक मस्कुलर डिस्ट्रॉफी से ग्रसित 75 बच्चों के बैंक खाते में छह-छह लाख रुपये दिए गए

पटना:- बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज जेनेटिक मस्कुलर डिस्ट्रॉफी (एमडी) बीमारी से ग्रसित 75 बच्चों के बैंक खाते में छह-छह लाख रुपये एकमुश्त सहायता राशि प्रदान की।

श्री कुमार ने मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक की शुरुआत में मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष के तहत जेनेटिक मस्कुलर डिस्ट्रॉफी की बीमारी से ग्रसित 75 बच्चों के खाते में डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से राशि का अंतरण किया। इसके माध्यम से प्रति लाभार्थी को छह-छह लाख रुपये की एकमुश्त सहायता राशि प्रदान की गई।

इसके बाद समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रस्तुतीकरण के जरिए विभाग के अद्यतन कार्यों एवं उपलब्धियों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने राज्य में कोविड 19 और डेंगू की अद्यतन स्थिति तथा शिशु मृत्यु दर में आई गिरावट के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने जिला अस्पतालों में जीविका दीदियों द्वारा की जा रही भोजन की व्यवस्था, अस्पतालों में मानव संसाधन, आधारभूत संरचना, मेडिकल कॉलेज अस्पतालों, जिला अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों की अद्यतन स्थिति तथा विभाग की आगे की कार्य योजना के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।

श्री अमृत ने बताया कि 26 सितंबर 2022 को नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के द्वारा आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत हेल्थ केयर प्रोफेशनल रजिस्ट्री एवं पब्लिक हेल्थ केयर फैसिलिटी रजिस्ट्री वर्ग में बिहार को प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: