January 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दीदी नीलम आनन्द के 68 वीं जन्मदिन की पूर्व संध्या पर शिवशिष्यों ने किया वृक्षा रोपण

औरंगाबाद:- वन की महत्ता से हम सभी परिचित हैं। वृक्ष प्रकृति की सुंदरता को बढ़ाते हैं। ये इंसानों के लिए प्रकृति का सबसे महत्वपूर्ण भेंट है। इनका हर एक हिस्सा किसी न किसी रूप में उपयोगी होता हैं। वृक्ष हमें सांस लेने के लिए ऑक्सीजन, खाने के लिए फल, कड़ी धूप में छाया, पक्षियों को आश्रय, जानवरों को खाना देते है। उनके औषधीय गुणों की वजह से उनका उपयोग औषधि बनाने में होता है। पेड़ों की लकड़ी का उपयोग फर्नीचर,कागज,हथियार बनाने में किया जाता है। पेड़ वातावरण को ठंडा रखने में मदत करते हैं। पर्यावरण में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा को कम करके पेड़ वैश्विक तापमान को कम करने में मदत करते हैं। पेड़ों की वजह से हवा शुद्ध और ताजी बनती है। पेड़ों से बारिश की मात्रा में वृद्धि होती है। इस तरह वृक्ष बहु-उपयोगी होकर पर्यावरण और हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

इस वर्ष करोना माहामारी के कारण दीदी नीलम आनन्द के जन्म दिन पर किसी भी प्रकार के कार्यक्रम पर रोक लगा दी गई है। तथापि एकल रूप से शिव शिष्य उनके जन्मदिन पर वृक्षारोपण कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं।ऐसा ही कुछ नजारा हमे औरंगाबाद में देखने को मिला जहाँ के शिवशिष्यों ने सोसल डिस्टनसिंग का ध्यान रखते हुए।दीदी नीलम आनंद के 68 वीं जन्मदिन की पूर्व संध्या पर वृक्षारोपण किया।

Recent Posts

%d bloggers like this: