भागलपुर के कुटुबगंज में शिव शिष्यों की एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मुख्य रूप से जनमानस को शिव के गुरू स्वरूप से जोड़ने हेतु प्रयास को तेज करने पर बल दिया गया। रामनाराण शर्मा ने कहा कि अंधविश्वास और अफवाहें सचमुच में एक व्याधि है जिसके निदान के लिए सबों को सजग रहना होगा और समाज में जागरूकता फैलानी होगी। सही गुरू का सानिध्य व्यक्ति को अंधविश्वासों से मुक्त करता है। समाज में फैली कुरीतियों, कुसंस्कारों, अंधविश्वासों, अफवाहों के प्रति स्वच्छ जागरूकता पैदा करना एक.एक व्यक्ति का नैतिक कर्त्तव्य है।
बैठक में रामनारायण, विनय, मंटू, मीना, निभा सहित विभिन्न क्षेत्रों से लगभग 200 लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: