अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सालाना आधार पर जीडीपी में तेज वृद्धि परन्तु पिछली तिमाही की तुलना में गिरावट-सूर्यकांत शुक्ला


रांची:- देश में सकल घरेलू उत्पादन का ताजा डेटा केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने अप्रैल-जून तिमाही 2021 के लिए आज जारी किया। जीडीपी ग्रोथ 20.1 प्रतिशत रही। सितंबर तिमाही 2016 में जब जीडीपी 9.67प्रतिशत की दर से बढ़ी थी,उसके बाद यह दूसरी तेज विकास दर का आंकड़ा सीएसओ ने जारी किया है। यह अनुमान एसबीआई और आरबीआई के द्वारा लगाये गये अनुमान के मुताबिक है।
आर्थिक मामलों के जानकार सूर्यकांत शुक्ला ने कहा कि देश में इकॉनमी में तेज विकास दर का बड़ा कारण पिछले साल की इसी अवधि में -24.4प्रतिशत की बड़ी गिरावट थी। पिछली तिमाही की जीडीपी से तुलना करें, तो वस्तुस्थिति का सही चित्रण मिलता है और यह 17 प्रतिशत की गिरावट बताता है। साल दर साल आधार पर 20.1 प्रतिशत की प्रति है, परंतु पिछली जून तिमाही आधार पर यह वर्ष 2020 के इसी तिमाही से 17 प्रतिशत कम है। पिछले साल की समान अवधि की तुलना में जून तिमाही 2021 में अर्थव्यवस्था में विकास की तेज दर 20.1 प्रतिशत रिकॉर्ड की गयी, इस तेज वृद्धि दर का कारण निम्न आधार प्रभाव है। वास्तविक स्थिति को समझने के लिए यदि पिछली तिमाही यही जनवरी मार्च तिमाही की जीडीपी से तुलना करें, तो 17 प्रतिशत गिरावट दिखलायी पड़ती है। यह सही है कि जीडीपी पिछली तीन तिमाहियों से पॉजिटिव ग्रोथ रिकॉर्ड कर रही है। जनवरी मार्च तिमाही 2021 में जीडीपी की वैल्सू 38.96 ट्रिलियन रुपये थी, जबकि जून तिमाही में 20.1 की वृद्धि दर के बावजूद सिर्फ 32.30 ट्रिलियन रुपये ही होती है। यानी 20.1 प्रतिशत ग्रोथ का मतलब अप्रैल-जून तिमाही 2020 की तुलना में जीडीपी में 20.1प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। अप्रैल-जून में जीडीपी का मूल्य 26.90 ट्रिलियन रुपये था। 20.21 प्रतिशत की वृद्धि का मतलब 5.30ट्रिलियन रुपये होते है।

%d bloggers like this: