May 11, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

संदिग्ध अवस्था में भाई-बहन का शव मिलने से सनसनी

रांची:- राजधानी रांची के धुर्वा में आज सुबह एक घर से भाई-बहन के शव मिलने लोग अचंभित हैं। वहीं, मामले की सूचना मिलते ही धुर्वा थाना प्रभारी इंस्पेक्टर राजीव कुमार सदल बल मौके पर पहुंच कर जायजा लेने के बाद दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया है। ज्ञात हो कि धुर्वा थाना के डायमंड फील्ड स्थित क्वार्टर नम्बर बी टू 372 में रहने वाले एचईसी में कार्यरत सीआईएसएफ के हवलदार एनके रॉय अपने एक बेटा व एक बेटी के साथ रहते हैं। बीती रात खाना खाने के बाद तीनों अपने-अपने कमरे में सोने चले गये थे। आज सुबह जब पिता एनके रॉय सो कर उठे तब उन्होंने बेड में अपने 40 वर्षीय बेटा दिपांकर रॉय व घर के अंदर ही दूसरे कमरे के बेड के नीचे फर्श में पड़ी अपनी 32 वर्षीया बेटी सीता रॉय का शव पड़ा देखा। बाद में उन्होंने इसकी जानकारी पड़ोसियों को दी। मामले की जानकारी होते ही वहां लोगों की भीड़ जमा हो गयी। पुलिस भी वहां पहुंच गई। जानकारी के मुताबिक दोनों भाई-बहन की शादी नहीं हुई थी। दोनों की आपस में बराबर झड़प होती रहती थी। इनकी मां का एक साल पहले ही देहांत हो गया है। सूत्रों के मुताबिक दोनों कुछ दिनों से सर्दी, खांसी और बुखार से भी ग्रसित थे। कॉलोनी के लोगों का उनके घर पर आना जाना नहीं था। लेकिन दोनों भाई बहन के झगड़े की आवाज बगल के लोग सुनते थे।
रॉय परिवार अपने घर पर कई कुत्ते भी पाल रखे थे। इसलिए सीता रॉय के शव को कुत्तों ने काफी देर तक घेर रखा था। दोनों की एक साथ मौत से आस पास के लोगों में दहशत है। लोग कोविड के डर से वहां सट नहीं रहे थे, बाद में पुलिस के आने के बाद ही लोग करीब गये। जिनसे पुलिस पूछताछ की। वहीं, घटना की सूचना पाकर सीआईएसएफ के कई अधिकारी भी वहां पहुंच कर मामले की जानकारी ली।
दूसरी तरफ भाई-बहन के शव मामले को लोग संदेह की नजरों से देख रहे हैं। आस पास के लोगों का कहना है कि दोनों की मौत कोविड से एक साथ कैसे हो सकती है। लोगों को संदेह है कि संभवतः उन दोनों की मौत जहर खाने से हुई हो। या इनकी मौत के पीछे उसके पिता की ही भूमिका रही हो। पुलिस भी इसे संदिग्घ मान कर तहकीकात कर रही है। थाना प्रभारी ने कहा कि पोस्टर्माम रिपोर्ट आने के बाद ही कारणों का खुलासा हो पायेगा।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: