May 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पलामू व लातेहार में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट स्थापित करने को लेकर नीति आयोग को भेजें प्रस्ताव : आयुक्त

गढ़वा जिले के ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाने के कार्य में लायें तेजी

मेदिनीनगर:- कोविड-19 संक्रमण के प्रसार के मद्देनजर पलामू प्रमंडल में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट की मांग को लेकर आयुक्त ने गंभीरता दिखाई है। उन्होंने गढ़वा जिले के ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट इंस्टॉलेशन को गति देते हुए शीघ्र कार्य पूर्ण करने और ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित कराने का निदेश दिया है। साथ ही गढ़वा जिले की तरह पलामू व लातेहार जिले को भी ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट स्थापित किये जाने को लेकर प्रस्ताव तैयार कर नीति आयोग को भेजने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के इस दौर में पलामू प्रमंडल क्षेत्र में ऑक्सीजन सप्लाई में कोई समस्या या इसकी कमी नहीं आनी चाहिए।
ऑक्सीजन की उपलब्धता एक दिन का एडवांस रखें, ताकि कोविड-19 या गंभीर मरीजों को खतरे से बचाया जा सके। आयुक्त श्री जटाशंकर चौधरी आज वीडियो कॉफ्रेसिंग के माध्यम से प्रमंडल क्षेत्र के पलामू, गढ़वा व लातेहार में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह से संबंधित राज्य सरकार के दिशा- निदेशों के अनुपालन, कोविड-19 संक्रमण के प्रसार तथा नियंत्रण के लिए अपनाये जा रहे व्यवस्थाओं एवं उपलब्ध सुविधाओं की समीक्षा कर रहे थे।
जानकारी हो कि नीति आयोग के सहयोग से जिला स्वास्थ्य समिति, गढ़वा की ओर से अरिहंत सप्लायर के द्वारा गढ़वा जिले के सदर अस्पताल परिसर में करीब 41 लाख की लागत से ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाया जा रहा है। इसकी ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता 5000 लीटर प्रति घंटा है। प्लांट में एक ऑक्सीजन जनरेट करने वाली मशीन तथा एक सिलेंडर मौजूद है। सिलेंडर की लिमिट 1000 लीटर की है। ऑक्सीजन प्लांट पाइप लाइन की मदद से सदर अस्पताल में मौजूद 100 बेड को ऑक्सीजन सप्लाई करेगा।
आयुक्त ने प्रमंडल क्षेत्र के तीनों जिलों में ऑक्सीजन की उपलब्धता की स्थिति की सूक्ष्मता से समीक्षा करते हुए कहा कि ऑक्सीजन की कमी नहीं हो, इसे सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट की शुरुआत के पूर्व गढ़वा जिला पलामू से समन्वय स्थापित कर मरीजों को ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। साथ ही उन्होंने गढ़वा जिले में एक ऑक्सीजन रिफिलिंग सेंटर के लिए लाइसेंस उपलब्ध कराते हुए रिफिलिंग की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया। साथ ही तीनों जिलों के उपायुक्त व सिविल सर्जन को इंडस्ट्रियल ऑक्सीजन सिलेंडर को प्राथमिकता के तहत कोविड-19 मरीजों के लिए उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।
आयुक्त ने गढ़वा उपायुक्त को निदेशित किया की सुरक्षा व्यवस्था होनी चाहिए। साथ ही यह भी प्रयास करें कि इस प्लांट से खपत संख्या से अधिक उत्पादित ऑक्सीजन की आपूर्ति जिले के अन्य अस्पतालों एवं निकटवर्ती जिलों में भी मांग के अनुसार उपलब्ध कराने की व्यवस्था करें।
आयुक्त ने स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के गाइडलाइन का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराने, जिलों के एंट्री पॉइंट पर विशेष रूप से कोविड-19 की जांच की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। वहीं कोविड-19 के लक्षण- बुखार, सर्दी आदि की स्थिति में मरीजों को मेडिकल कीट यथा आवश्यक दवाइयां उपलब्ध कराने का निर्देश दिया, ताकि संक्रमण को प्रारंभिक स्तर पर ही समाप्त की जा सके। उन्होंने कहा कि सर्दी, बुखार की स्थिति में जरूरत की दवाइयां खिलाने से कोविड-19 संक्रमण का खतरा कम होगा। उन्होंने कहा कि जब मरीज सीरियस होने लगता है, तो लोग उसे अस्पताल लेकर पहुंचते हैं। इसके पहले ही उन्हें दवाइयां उपलब्ध होगी, तो ठीक हो सकेंगे। इससे संक्रमण का खतरा कम होगा और अस्पतालों पर दबाव भी नहीं पड़ेगा।
आयुक्त ने मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को पलामू, गढ़वा एवं लातेहार जिले के कोविड-19 जांच के लिए प्राप्त सैंपल को गति के साथ जांच करवाते हुए ससमय रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निदेश दिया, ताकि समय रहते कोविड-19 के प्रसार को रोका जा सके। उन्होंने तीनों जिले के उपायुक्त एवं सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि कोविड-19 सैंपलिंग एक्यूरेसी हो। आयुक्त ने पलामू उपायुक्त को मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज में मानव संसाधन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया, ताकि कोविड-19 सैंपल की जांच सुचारू रूप से चल सके और रिपोर्ट यथाशीघ्र लोगों को मिल सके।आयुक्त ने कहा कि सैंपल की जांच में मेडिकल कॉलेज देर न करे, जल्दी जांच रिपोर्ट दे, ताकि संक्रमण के खतरे को रोका जा सके। वहीं कोरोना वायरस मरीजों का ट्रैकिंग मेकैनिज्म को मजबूत करने और बीच-बीच में उसकी समीक्षा करने का निर्देश दिया।
आयुक्त ने कोविड-19 के कार्य में जुटे डॉक्टर एवं स्वास्थयकर्मियों को धन्यवाद देते हुए कोविड-19 संक्रमण का बहाना बनाकर अनावश्यक रूप से छुट्टी पर नहीं रहने की सलाह दी है। उन्होंने कोविड-19 संक्रमण का बहाना बनाकर घरों में रहने वाले चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी को चिन्हित करते हुए कड़ाई करने का निदेश दिया। उन्होंने सिविल सर्जन को निदेश दिया कि चिकित्सक व स्वास्थयकर्मियों पर कड़ाई से नियंत्रण रखने व उनका मॉनिटरिंग करें, ताकि सभी मुस्तैदी से काम करें। उन्होंने कहा कि मरीजों के इलाज के संबंध में कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। आयुक्त ने पलामू के प्रभारी सिविल सर्जन को हॉस्पिटल के मैनेजमेंट को दुरुस्त करने एवं समस्या नहीं आने देने हेतू निदेशित किया। जरूरत पड़ने पर उपायुक्त से सहयोग लेने की बातें कही। आयुक्त ने लातेहार में चिकित्सकों को कोविड-19 पॉजिटिव होने की स्थिति में हेड क्वार्टर से मांग करने का निर्देश दिया।
आयुक्त ने प्रमंडल क्षेत्र के जिलों में रेमडेसिवीर एवं ऑक्सीमीटर तथा अन्य आवश्यक दवाइयों की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि ऑक्सीमीटर एवं अन्य आवश्यक दवाईयों की सहजता से उपलब्धता सुनिश्चित होनी चाहिए। इसकी न तो कालाबाजारी होनी चाहिए और न ही कोई भंडारण करके रखें। लोगों की मांग के अनुरूप बाजारों में उपलब्ध करवाना सुनिश्चित कराएं। उन्होंने कालाबाजारी एवं जमाखोरी पर ड्रग इंस्पेक्टर से नियमित रूप से छापेमारी कराते हुए कार्रवाई सुनिश्चित कराने निर्देश दिया।
आयुक्त ने एंबुलेंस की समस्या नहीं होने देने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि पलामू जिले में जिस तरह से एंबुलेंस की उपलब्धता कराते हुए उसकी पूरी सूची जारी की गई है, उसी तरह अन्य जिले भी अमल करें। उन्होंने एंबुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित कराते हुएक्ष एंबुलेंस चालकों का नाम एवं उनका मोबाइल नंबर भी जारी करने का निदेश दिया। साथ ही कोविड-19 मरीजों की अनहोनी पर लकड़ी एवं जलाने की व्यवस्था हेतू लकड़ी एवं अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने का निदेश दिया।
आयुक्त ने स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह, बेड, ऑक्सीजन, एंबुलेंस, वेंटीलेटर, डॉक्टरों एवं स्वास्थयकर्मियों की उपलब्धता, रेमडेसिवीर, ऑक्सीमीटर एवं अन्य आवश्यक दवाईयों की व्यवस्था, वैसे निजी अस्पताल जिसे कोविड-19 के मरीजों के लिए प्रशासनिक स्तर पर टेकओवर किया गेम है, उन अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता, गढ़वा जिले में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित होने की प्रगति, कोविड-19 की जांच, वैक्सीनेशन तथा 18 साल से ऊपर के सभी लोगों के लिए कोविड-19से बचाव का टीका लगवाने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया की तैयारियों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उपनिदेशक जनसंपर्क आनंद, आयुक्त के पीए जयंत कुमार एवं वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज के प्रचार्य ज्योति रंजन तथा पलामू, गढ़वा के उपायुक्त एवं सिविल सर्जन तथा लातेहार जिले के उप विकास आयुक्त व सिविल सर्जन उपस्थित थे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: