March 1, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अमित शाह के ‘मिशन बंगाल’ का दूसरा दिन, नेशनल लाइब्रेरी में देंगे शहीदों को श्रद्धांजलि

2021_2image_11_27_503145813shaha3-ll

नयी दिल्ली:- भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दो दिवसीय बंगाल दौरे पर हैं। आज वह कोलकाता स्थित राष्ट्रीय संग्रहालय में ‘शौर्यांजलि’ कार्यक्रम में शामिल होकर पश्चिम बंगाल के शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे। इसके अलावा वह संगठन से जुड़े कई राजनीतिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी भाग लेंगे।
‘जय श्री राम’ के उद्घोष के बीच किया था रोड शो
केंद्रीय गृह मंत्री ने वीरवार को ‘जय श्री राम’ के उद्घोष के बीच चुनावी राज्य पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के काकद्वीप में रोडशो किया। उन्होंने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सत्ता में आने पर भाजपा चक्रवात ‘अम्फान’ राहत कोष में गबन की जांच कराएगी और दोषियों को जेल भेजेगी। शाह ने कहा कि भाजपा की ‘परिवर्तन यात्रा’ मुख्यमंत्री, विधायक या मंत्री को बदलने के लिए नहीं बल्कि घुसपैठ को बंद करने तथा पश्चिम बंगाल को एक विकसित राज्य में परिवर्तित करने की है।
रैली में ममता बनर्जी पर बोला था हमला
‘जय श्रीराम’ के नारे को लेकर उपजे विवाद के बारे में शाह ने कहा कि बंगाल की मुख्यमंत्री अपनी तुष्टिकरण की राजनीति के चलते नारे के कारण नाराज हुईं। उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार ने डर का माहौल बनाया लेकिन भाजपा, तृणमूल के ‘गुंडो’ का सामना करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि आपको लगता है कि हम तृणमूल कांग्रेस के गुंडों से डर जाएंगे ? वे भाजपा को सत्ता में आने से नहीं रोक सकते। सत्ता में आने पर हम भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या में संलिप्त सभी साजिशकर्ता को जेल भेजेंगे।
गृह मंत्री ने प्रवासी परिवार के घर किया था भोजन
इसके बाद गृह मंत्री ने वीरवार को पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में एक प्रवासी परिवार के घर पहुंचे और उन्होंने वहां भाजपा के अन्य नेताओं के साथ दोपहर का भोजन किया। वह संकरी कच्ची सड़क से ई-रिक्शा के जरिए बिस्वास के घर पहुंचे और करीब 30 मिनट वहां रुके। भाजपा नेता दिलीप घोष, कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल रॉय भी उनके साथ थे। स्थानीय महिलाओं ने शंख बजाकर नेताओं का पारम्परिक तरीके से स्वागत किया। शाह ने खुद इसकी जानकारी देते हुए ट्वीट किया कि पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना स्थित नारायणपुर गांव में सुब्रत बिस्वास के घर मध्याह्न भोजन किया। मैं इस गर्मजोशी और आतिथ्य-सत्कार के लिए बिस्वास जी और उनके परिवार को तहे-दिल से धन्यवाद देता हूं।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: