अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भूमिहार के सहारे वैतरणी पार करना चाहती है राजद


पटना:- बिहार में जातिगत राजनीति का बोलबाला हमेशा से रहा है। यही कारण है कि कोई भी पार्टी इसे छोड़ना नहीं चाहती है। बीते 16 साल से बिहार के मुखिया पद पर विराजमान नीतीश कुमार पिछड़ों और अगड़ी जाति में भूमिहार-ब्राह्मण को साथ लेकर सत्ता पर विराजमान हैं। आने वाले विधानपरिषद चुनाव में भी वे भाजपा के साथ इसी समीकरण को आगे करके मैदान में उतरेंगे। हालांकि, उनकी राह इस बार आसान नहीं होने वाली है।
राजद जो अपने कोर वोट बैंक मुस्लिम-यादव पर टिका हुआ था, उसके युवराज और वर्तमान में बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बड़ी तेजी के साथ भाजपा-जदयू के कोर वोट बैंक भूमिहार को अपने पाले में लाने के लिए अपनी रणनीति में बड़ा फेरबदल किया है।
बिहार विधानपरिषद की खाली पड़ी 24 सीटों में से 16 सीटों पर राजद अपने उम्मीदवार उतारने जा रही है। जानकारी के मुताबिक दिलचस्प बात यह है कि इसमें से चार से पांच सीट पर भूमिहार जाति के उम्मीदवार हो सकते हैं, जो अबतक भाजपा-जदयू के कोर वोटर माने जाते रहे हैं।
राजद खेमे से मिल रही जानकारी के मुताबिक विधानपरिषद सीट के लिए जो भूमिहार उम्मीदवार लिस्ट में टॉप पर चल रहे हैं। उनमें सबसे नया नाम चर्चित शंभू-मंटू गिरोह के शंभु सिंह का है। वो दिल्ली में मकर संक्रांति के दिन राजद की राज्यसभा सदस्य मिसा भारती के आवास पर लालू यादव और तेजस्वी यादव से मिले हैं। मिलने का सबूत अपना फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल किया है।
मुजफ्फरपुर स्थानीय प्राधिकार सीट से ये उम्मीदवार बनेंगे तो दिनेश सिंह की मुश्किलें बढ़ सकती है जो जदयू से कई बार इस सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। दिनेश सिंह राजपूत जाति से आते हैं। इसके पहले पश्चिमी चंपारण से इंजीनियर सौरभ कुमार, लखीसराय एवं शेखपुरा सीट से अजय कुमार, पूर्वी चंपारण से बबलू देव और नवादा सीट से भी चर्चित पूर्व कांग्रेसी ‘सिंह परिवार’ की एक महिला का नाम सबसे आगे है। तेजस्वी की पॉलिसी को प्रमुखता मिलने के बाद यह पहला मौका है जब इतने बड़े पैमाने पर भूमिहारों को टिकट देने की तैयारी है। राजद में ही यह चर्चा का विषय बना हुआ है कि सचमुच राजग खासकर भाजपा के कोर वोटर में सेंधमारी की तैयारी है या धनबल मुख्य कारण है। खैर बात चाहे जो भी हो लेकिन तेजस्वी के माई समीकरण में एक नया नाम भू जुड़ने से अब यह भूमई (भूमिहार-यादव-मुस्लिम) हो गया है।

%d bloggers like this: