अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

महिला हेल्पलाइन, वन स्टॉप सेंटर, स्टेट रिसोर्स सेंटर के कार्यो की समीक्षा

महीने में एक बार सीसीआई का विजिट करें सीडीपीओः उपायुक्त

रांची:- महिला एवं बाल कल्याण से संबंधित योजनाओं, महिला हेल्पलाइन, संप्रेक्षण गृह, स्टेट रिसोर्स सेंटर, वृद्धाश्रम से संबंधित समीक्षा बैठक आज आयोजित की गयी।
बैठक में उपायुक्त छवि रंजन ने रिमांड होम की सुरक्षा, प्लेस ऑफ सेफ्टी निर्माण, 18 वर्ष से अधिक उम्र के किशोरों के स्थानांतरण, जेजेबी को बाहर संचालित करने, डॉक्टरों मनोचिकित्सकों की प्रतिनियुक्ति, भवन की मरम्मती एवं सुसज्जीकरण, कौशल प्रशिक्षण, वृद्धाश्रम के संचालन आदि की विस्तार से समीक्षा की।
बैठक के दौरान सबसे पहले उपायुक्त ने पोक्सो एक्ट से जुड़े मामलों की समीक्षा की। सदस्य, बाल कल्याण आयोग श्रीमती तनुश्री से उपायुक्त द्वारा पोक्सो एक्ट से जुड़े मामलों की विस्तार से जानकारी ली गयी। उपायुक्त ने विभिन्न मामलों की अद्यतन स्थिति और उसमें की गयी कार्रवाई की रिपोर्ट फॉर्मेट बनाकर उपलब्ध कराने का निदेश समाज कल्याण पदाधिकारी को दिया। लंबित मामलों की समीक्षा करते हुए उपायुक्त जल्द से जल्द मामलों के निराकरण करने का निर्देश दिया।
जेजेबी को बाहर संचालित करने को लेकर उपायुक्त ने प्रिंसिपल मजिस्ट्रेट, जेजेबी रांची से आवश्यक जानकारी ली। जेजेबी का संचालन रिमांड होम परिसर से बाहर शुरु होने तक उपायुक्त ने किसी का भी वाहन अंदर नहीं आने का निदेश दिया। पिछले दिनों रिमांड होम में हुई घटनाओं पर कड़ी नाराजगी जताते हुए उपायुक्त ने प्रतिबंधित वस्तु जैसे मोबाइल इत्यादि की बरामदगी को लेकर बच्चों से मिलने आने वालों की मुस्तैदी से जांच का निदेश दिये। उन्होंने कहा कि बच्चों से मिलने आनेवाले मोबाइल आदि प्रतिबंधित वस्तु लेकर बच्चों से न मिलें, इसे हर हाल में सुनिश्चित करें।
16-18 वर्ष के किशोरों के लिए प्लेस ऑफ सेफ्टी निर्माण को लेकर भी उपायुक्त ने बैठक के दौरान जानकारी ली और जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निदेश दिये।

रिमांड होम में बच्चों की स्वास्थ्य जांच की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने कहा कि समय-समय पर डॉक्टर्स रिमांड होम विजिट करें यह सुनिश्चित करें। जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति के लिए उपायुक्त ने विभागीय सचिव से पत्राचार करने का निदेश दिया।
जिला के सीसीआई (चाइल्ड केयर इंस्टीच्यूट) में बच्चों को किस तरह ख्याल रखा जा रहा है इसकी समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को महीने में एक बार सीसीआई विजिट कर रिपोर्ट देने का निदेश दिया।
बच्चों के कौशल प्रशिक्षण को लेकर भी उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निदेश दिये। नियुक्ति एवं रिक्त पदों की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने स्वीकृत पदों के लिए जल्द से जल्द नियुक्ति करने का निदेश जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी को दिया।
स्टेट रिसोर्स सेंटर के कार्यो की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी और बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को ज्वायंट रिपोर्ट देने का निदेश दिया।
वन स्टॉप सेंटर में व्यवस्था की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारी से आवश्यक जानकारी ली। उन्होंने सेंटर में आनेवालों लोगों के रहने खाने के लिए उचित व्यवस्था करने का निदेश दिया। जिला में स्वाधार गृह बनाये जाने को लेकर दिये गये प्रस्ताव की क्या स्थिति है इसकी जानकारी उपायुक्त ने विभाग से पत्राकचार कर लेने का निदेश डीएसडब्ल्यूओ को दिया। बैठक के दौरान उपायुक्त ने वृद्धाश्रम संचालकों से भी पूछा कि उन्हें कोई परेशानी तो नहीं। संचालकों ने अपनी-अपनी समस्याएं बतायी जिसके निराकरण के उपायुक्त ने समाज कल्याण पदाधिकारी को निर्देश दिये।
उपायुक्त छवि रंजन की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी रांची, प्रिंसिपल मजिस्ट्रेट जेजीबी रांची, सचिव डीएलएसए, सदस्य बाल संरक्षण आयोग, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी रांची, जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, वृद्धाश्रम संचालक एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

%d bloggers like this: