अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को लेकर समीक्षा बैठक


चाईबासा:- पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अनन्य मित्तल के अध्यक्षता में वर्चुअल माध्यम से कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण एवं उनके रोकथाम, बचाव तथा सरकार से प्राप्त दिशा-निर्देश के अनुपालन के लिए गठित कोषांग के नोडल पदाधिकारी एवं सहयोगी पदाधिकारी के साथ बैठक का आयोजन किया गया। उक्त बैठक में जिले के उप विकास आयुक्त संदीप बक्शी, अपर उपायुक्त संतोष कुमार सिन्हा, जिला आपूर्ति पदाधिकारी अमित प्रकाश, मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ बुका उरांव, जिला परिवहन पदाधिकारी के राजहंस सहित सभी अंचलाधिकारी-इंसीडेंट कमांडर उपस्थित रहे। बैठक में उपायुक्त के द्वारा जिले के तीनों अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देशित किया गया कि संक्रमण के प्रसार को कम करने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा आगामी 15 जनवरी 2022 तक जारी दिशा-निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रवार दंडाधिकारी नियुक्ति कर क्षेत्र में नियमित रूप से मास्क चेकिंग अभियान संचालित करते हुए अनुदेशों का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्यवाही किया जाए। बैठक में जिला अंतर्गत सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में पर्याप्त बेड की व्यवस्था, ऑक्सीजन आपूर्ति आदि का भी जायजा लेते हुए सभी उपकरणों को क्रियाशील रखने हेतु संबंधित कोषांग के नोडल पदाधिकारी व चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया।

बैठक में उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि वर्तमान समय में संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए यह आवश्यक है कि सभी कोषांग के नोडल पदाधिकारी एवं सहयोगी पदाधिकारी नियमित रूप से अपने-अपने दायित्व के तहत क्षेत्र भ्रमण कर आवश्यक व्यवस्थाएं ससमय क्रियान्वित रहे, इस पर प्रमुखता से कार्य करेंगे। उपायुक्त के द्वारा निर्देशित करते हुए कहा गया कि जिला अंतर्गत विशेष रूप से बाहर से आने वाले व्यक्तियों की जांच एवं शेल्टर होम में रखने की व्यवस्था सुनिश्चित कर जांच के क्रम में पॉजिटिव पाए जाने वाले व्यक्तियों को अलग से क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती कर उनका इलाज सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ ही कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग, कंटेनमेंट जोन गठन, एंबुलेंस परिचालन, कंट्रोल रूम एवं हेल्पलाइन नंबर का सुगमता से संचालन किया जाए। उन्होंने कहा कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी सघनता से टेस्टिंग कार्य संपादित किया जाए, साथ ही होम आइसोलेशन किट का वितरण तथा आइसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों से संपर्क स्थापित कर नियमित अवधि में उनका स्वास्थ्य रिपोर्ट प्राप्त किया जाए।

%d bloggers like this: