अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोविड-19 टास्क फोर्स की समीक्षात्मक बैठक संपन्न,उपायुक्त ने दिए कई निर्देश

हजारीबाग:- हजारीबाग के उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद की अध्यक्षता में संभावित तीसरी लहर एवं कोविड-19 टास्क फोर्स को लेकर समीक्षात्मक बैठक शनिवार को गूगल मीट के माध्यम से की गईद्य उपायुक्त ने बैठक में जिले में कोरोना जांच की वर्तमान स्थिति की जानकारी आरसीएच पदाधिकारी से ली । लक्ष्य के अनुरूप कम टेस्टिंग करने वाले प्रखंडों के एमओआईसी तथा सीओ से नाराजगी जताई तथा इचाक एवं केरेडारी के एमओआईसी, बीडीओ, सीओ को कम टेस्टिंग के कारणों को लिखित रूप से स्पष्टीकरण देने को कहाद्य उन्होंने सभी प्रखंडों के संबंधित पदाधिकारियों को ट्रूनेट और आरटी पीसीआर से प्रतिदिन कितने टेस्ट किए जा रहे हैं इसकी सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।उन्होंने सैंपल कलेक्शन पर किसी प्रकार की कोताही नहीं करने को कहा,साथ ही जांच उपरांत प्राप्त हो रहे पॉजिटिव व नेगेटिव के रिपोर्टिंग को दुरुस्त करने को कहा एवं गलत रिपोर्टिंग प्राप्त होने पर संबंधित अधिकारी पर एफ. आई.आर दर्ज करने की चेतावनी दीद्य उन्होंने टेस्टिंग और वैक्सीनेशन को गंभीरतापूर्वक लेते हुए प्रभावी तरीके से कार्य करने का निर्देश दिया।
आगे उपायुक्त ने संभावित कोरोना के तीसरे लहर के मद्देनजर टीम गठित कर सभी आवश्यक तैयारियों को ससमय पूर्ण करने का सख्त निर्देश दिया। उन्होंने वर्तमान समय में होम आइसोलेशन में रहे लोगों की जानकारी मांगी तथा निरंतर कांटेक्ट ट्रेसिंग आदि विषयों पर कार्य करने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया। उन्होंने आरसीएच पदाधिकारी तथा टीकाकरण के नोडल डॉ एस कांत से ग्रामीण स्तर पर टीकाकरण के पहले खुराक के बाद तय समय पर उसी स्थान पर दूसरे खुराक के लिए भी कैंप लगाने सहित कोरोना टीकाकरण के दूसरी खुराक समय पर सभी को लगे यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
आगे उन्होंने अस्पताल अधीक्षक को मेडिकल कॉलेज में लगाए जा रहे ऑक्सीजन प्लांट एवं पाइप लाइन की वर्तमान स्थिति पर विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा,उन्होंने कोरोना संक्रमण से हुई मौतों की डेथ ऑडिट रिपोर्ट का जिक्र करते हुए इस संबंध में सभी कमियों को दूर करने का निर्देश दिया।उन्होंने सभी एमओआईसी को जिला व प्रखंड स्तर पर सभी सरकारी अस्पतालों को सुदृढ़ करने को लेकर आवश्यक इक्विपमेंट की सप्लाई के लिए सभी तैयारियों को पूर्ण करने को कहा, उन्होंने बताया कि ग्रामीण स्तर पर छोटे-मोटे इलाज को लेकर ग्रामीणों को जिला अस्पताल भेज दिया जाता है जिससे उनकी मुश्किलें और बढ़ जाती हैं इसलिए ग्रामीण स्तर पर अस्पतालों में जरूरी बेड व आवश्यक उपकरण की कमियों को दूर किया जा रहा है।सभी मेडिकल उपकरणों का प्रभावी तरीके से इस्तेमाल हो सके इसके लिए अस्पताल प्रबंधक को सामग्रियों/ उपकरणों की सूची बनाते हुए जांच कर चालू अवस्था पर रखने को कहाद्य कटकमसांडी व विष्णुगढ़ को ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण के लिए विधायक मद से उपलब्ध कराए गए चार-चार लाख रुपए की उपयोगिता को जाना तथा प्रखंडों के अस्पतालों में ऑक्सीजन पाइप लाइन कार्य को इस माह के अंत तक पूर्ण करने का निर्देश दिया।
उन्होंने कर्मियों की कमी को देखते हुए सिविल सर्जन को रिक्त पदों को भरने के लिए नियुक्ति प्रक्रिया में गति देने को कहाद्य अंत में उन्होंने बीडीओ सदर को जिला परिवहन पदाधिकारी से समन्वय बनाते हुए बसों के माध्यम से बाहर से आने वाले लोगों का डेटाबेस तैयार कर उनका कोरोना जाँच कराना सुनिश्चित करने को कहा।
इस बैठक मे ऑनलाइन माध्यम से उप विकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा,अपर समाहर्ता रंजीत कुमार लाल, प्रशिक्षु आईएएस रीना हसदा, सिविल सर्जन,आरसीएच पदाधिकारी, सभी प्रखंडों के बीडीओ/सीओ और एमओआईसी जुड़े।

%d bloggers like this: