अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

महामारी के बीच किसानों को राहत…बिहार में होगी गेहूं, चना, सरसों, मक्का के बीज की होम डिलीवरी


पटनाः- बिहार सरकार ने कोरोना महामारी के बीच किसानों को राहत देने के उद्देश्य से शुरू की गई बीजों की होम डिलीवरी की सुविधा का विस्तार रबी मौसम 2021-22 की फसलों गेहूं, चना, मसूर, मटर, सरसों, तीसी, मक्का और जौ के लिए भी कर दिया है। कृषि विभाग से शुक्रवार को मिली जानकारी के अनुसार, किसानों के घर तक बीज पहुंचाने के लिए सरकार ने होम डिलीवरी की व्यवस्था की है। ऑनलाइन आवेदन में होम डिलीवरी विकल्प का चयन करने वाले किसानों के घर तक रबी फसलों गेहूं, चना, मसूर, मटर, सरसों, तीसी, मक्का और जौ के बीज पहुंचा दिए जाएंगे। इसके लिए किसानों को अलग से शुल्क देना होगा। कृषकों को गेहूं के बीज की होम डिलीवरी के लिए दो रुपए प्रति किलोग्राम एवं अन्य फसलों की बीज के लिए पांच रुपए प्रति किलोग्राम की दर से भुगतान करना होगा। किसानों को अनुदानित दर पर बीज की प्राप्ति और बीजों की होम डिलीवरी के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। दलहन एवं तिलहन फसलों के लिए एक अगस्त से 20 अगस्त तक तथा गेहूं एवं मक्का के लिए 21 अगस्त से 20 सितंबर 2021 तक आवेदन किया जा सकेगा। किसानों का फसलवार बीज आवेदन पंचायत के संबंधित कृषि समन्वयक को स्वत: प्राप्त हो जाएगी। पत्र आवेदन किसानों की जांच के बाद उनके निबंधित मोबाइल नंबर पर कृषि विभाग की ओर से ओटीपी (वनटाइम पासवर्ड) भेज जाएगा। कृषि समन्वयक बीज प्राप्ति स्थान के संबंध में किसानों को सूचना उपलब्ध कराएंगे। किसान निर्दिष्ट बीज विक्रेता को अपना ओटीपी बताकर अनुदान की राशि घटाकर शेष राशि का भुगतान कर बीज प्राप्त कर सकेंगे। उल्लेखनीय है कि बिहार में रबी मौसम 2019-20 में बांका जिले से बीज की होम डिलीवरी शुरू हुई थी। पिछले 2020 खरीफ मौसम में यह सुविधा सभी जिलों के लिए शुरू की गई थी और लगभग 4000 क्विंटल बीज की होम डिलीवरी की गई थी।

%d bloggers like this: