अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

घोड़ाबंधा में 8 महीनों से बंद राशन स्टोर अब खुलेगी, अंकित आनंद के हस्तक्षेप से 650 लाभुक परिवारों को मिली राहत


जमशेदपुर:- अंकित आनंद के प्रयासों के बाद एकबार फ़िर घोड़ाबंधा के लगभग 650 राशन लाभुक परिवारों को राहत मिली है। अंकित आनंद की पहल के बाद पिछले 8 महीनों से घोड़ाबंधा में बंद पड़ी सरकारी जनवितरण प्रणाली राशन स्टोर अब फ़िर से नियमित तौर पर खुलेगी। डीसी सूरज कुमार के निर्देश के बाद राशनिंग विभाग ने अक्टूबर महीने में ही नये वितरक के चयन और अनुज्ञप्ति देने की औपचारिकताओं को पूरा कर लिया था। किन्हीं कारणों से वितरक ने नये वर्ष से राशन वितरण पर सहमति जताई थी। तय मानकों और अहर्त्याओं क आधार पर नये राशन वितरक का चयन भी हो चुकी है। खाद्य आपूर्ति विभाग ने वितरक के तौर पर घोड़ाबंधा निवासी अभिमन्यु कुमार सिंह का चयन किया है और उनके नाम पर लाईसेंस और अनापत्ति प्रमाण पत्र निर्गत कर दिया है। 16 जनवरी को घोड़ाबंधा में जनवितरण प्रणाली स्टोर की विधिवत उद्धाटन होगी। राशन स्टोर खुल जाने से पूर्वी, उत्तरी और पश्चिम घोड़ाबंधा के लाभुकों को बड़ी राहत मिलेगी जिन्हें वर्तमान में राशन उठाव के लिए कई किलोमीटर दूर लुपुंगडीह गाँव जानी पड़ती थी। मालूम हो कि पीडीएस स्टोर संचालक स्व. श्याम सिंह की कुछ महीनों पूर्व मृत्यु हो गई थी। उसके बाद से ही घोड़ाबंधा में जनवितरण प्रणाली के तहत संचालित सरकारी राशन स्टोर बंद थी। आवेदन के बावजूद भी नये वितरक के चयन में देरी हो रही थी। इस मामले को नवरात्रि के दौरान बीते 12 अक्टूबर को भाजपा नेता अंकित आनंद ने उठाते हुए उपायुक्त, डीएसओ और एसओआर को पत्र लिखकर इस मामले में अविलंब हस्तक्षेप का आग्रह किया था। अंकित आनंद के ट्वीट और चिट्ठी का असर रहा कि वरीय पदाधिकारियों ने इस मामले को गंभीरता से लिया। डीसी सूरज कुमार ने इस मामले को प्राथमिकता पूर्वक निष्पादित करने का निर्देश खाद्य आपुर्ति विभाग के आला अधिकारियों को दिया था। इसका प्रतिफ़ल रहा कि महीनों से लंबित इस मूलभूत समस्या का नियम संगत समाधान हो गया। मालूम हो कि पूर्व राशन वितरक स्व. श्याम सिंह के निधन के बाद से घोड़ाबंधा के निवासी लगभग 650 से अधिक राशन लाभुकों के कार्ड को सुदूर लुपुंगडीह गाँव के राशन वितरक के पास ट्रांसफ़र कर दी गई थी। दूरी की वजह से 6 महीनों से घोड़ाबंधा के राशन कार्डधारकों को बहुत कठिनाई हो रही थी। बीजेपी नेता अंकित आनंद के हस्तक्षेप के बाद समाधान मुमकिन हुआ है। चयनित राशन वितरक ने लाइसेंस मिलने की सूचना भाजपा नेता अंकित आनंद को देते हुए इस लोकउपयोगी पहल के लिए आभार जताया है.

%d bloggers like this: