May 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

रांची : कोरोना से देश में मातम के बीच उत्सव की बात निर्लज्जता की पराकाष्ठा : कांग्रेस

रांची:- झारखंड प्रदेश कांग्रेस ने रविवार को कहा कि देशभर में कोरोना संक्रमण के कारण प्रतिदिन सैकड़ों लोगों की जान जा रही है लेकिन ऐसे मातम के माहौल में टीकोत्सव की बात निर्लज्जता की पराकाष्ठा है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने यहां कहा कि मातम का कोई उत्सव नहीं होता, देशभर में लोग कोरोना संक्रमण से मर रहे है। अस्पताल में बेड की कमी हैं, वैक्सीन राज्यों को नहीं मिल रही हैं, केंद्र से कोई सहयोग नहीं मिल रजा है, ऐसी स्थिति में मौत और मातम के बीच उत्सव कैसे मनाया जा सकता। उन्होंने प्रधानमंत्री से अपील की कि वे मौत पर राजनीति बंद कर दें और तत्काल झारखंड जैसे पिछड़े राज्यों को आवश्यक सहायता उपलब्ध करायी जाए। श्री दूबे ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ओछी राजनीतिक मानसिकता का परिचय देते हुए दीपोत्सव, ढोल पीटोत्सव, थाली पीटोत्सव, झाल बजाओत्सव, शंख फूंकोत्सव और दाढ़ी बढ़ाओत्सव के बाद अब टीकोत्सव का आयोजन करने जा रही है जो निर्लज्जता की पराकाष्ठा है। उन्होंने यह मांग की कि एक तय समय सीमा में सभी भारतीयों के लिए वैक्सीन सुनिश्चित करें, वैक्सीन के निर्यात पर तत्काल रोक लगे और केंद्र सरकार वैक्सीन आपूर्ति में राज्यों संग कोई पक्षपात न करें। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार 12 अप्रैल को कोरोना वैक्सीन सभी के लिए उपलब्ध किए जाने की मांग को लेकर स्पीकअपऑन वैक्सीन फॉर ऑल सोशल मीडिया पर देशव्यापी कैंपेंन चलाया जाएगा। प्रवक्ता ने झारखंड सरकार द्वारा लगातार किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि कोरोना सैंपल को टेस्टिंग के लिए हेलीकॉप्टर से उड़ीसा भेजना अच्छा प्रयास है लेकिन प्रशासनिक अधिकारी भी स्थिति की गंभीरता को समझते हुए और अधिक राहत एवं सहायता कार्यों को गति प्रदान करें। उन्होंने राज्य सरकार से मांग की है कि निजी अस्पतालों द्वारा भयादोहन रोकने के लिए कठोरतम कारवाई सुनिश्चित हो।
वहीं, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि कोरोना संक्रमण में जनता का भी सहयोग जरूरी है, हर काम सरकार के भरोसा छोड़ना उचित नहीं है, लोग मास्क लगाये और सोशल डिस्टेसिंग समेत सभी गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित क श्री शाहदेव ने कहा कि राज्य में टोसिलिजुमाब और रेमडेसिविर समेत अन्य कोरोना इलाज के दवाओं और इंजेक्शन की भारी कमी है जिससे कोरोना मरीजों के इलाज में दिक्कत आ रही हैं। इसलिए केंद्र सरकार तत्काल पर्याप्त मात्रा में कोरोना की दवाओं को उपलब्ध कराये।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: