अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भक्तों को राम मंदिर तक पहुंचाएंगे ‘राम, भक्ति, श्रद्धा व धर्म पथ’, चार मार्गों का पुनर्विकास कार्य शुरू


अयोध्या:- श्रद्धालुओं को राम मंदिर तक पहुंचाने के लिए अयोध्या में चार मार्ग तैयार किए जाएंगे. ये मार्ग आधुनिक सुविधाओं से लैस होंगे और इनका नाम भी भक्तों को आध्यात्मिकता का अनुभव कराएगा. अयोध्या में भक्तों को राम मंदिर तक पहुंचाने वाले इन चारों मार्गों के नाम होंगे राम, भक्ति, श्रद्धा एवं धर्म पथ. इन रास्तों पर चलने वाले श्रद्धानुओं को अहसास होगा कि वे किसी आध्यात्मिक नगर में हैं और रामलला के भव्य मंदिर तक पहुंचने का उनका सफर काफी सुखद होगा.
अयोध्या के विजन डॉक्यूमेंट में इन मार्गों के विस्तार की रूपरेखा शामिल कर ली गई थी. लेकिन विस्तृत कार्य योजना बनने के दौरान इन चारों मार्गों के लिए प्रस्तावित नाम सामने आए हैं. अयोध्या विजन डॉक्यूमेंट में ये मार्ग शामिल उन परियोजनाओं में शामिल हैं, जिन पर पहले चरण में प्राथमिकता पर कार्य होना है. शासन से मिले दिशा-निर्देशों के बाद अयोध्या विकास प्राधिकरण अब विजन डॉक्यूमेंट के पहले चरण की परियोजनाओं के क्रियान्वयन पर ध्यान केंद्रित कर रहा है.
प्रस्तावित मार्ग और उनके नाम
राम पथ रामघाट से नयाघाट (2 किमी फोरलेन)
धर्म पथ श्रृंगारहाट से राममंदिर (500 मीटर)
भक्ति पथ सुग्रीव किला से राममंदिर (700 मीटर)
श्रद्धा पथ (श्रीरामजन्मभूमि मार्ग)
रामनगरी को हाईवे और मंदिर से जोड़ने के लिए, जिन चार प्रस्तावित मार्गों का निर्माण किया जाना है उनमें सआदतगंज व रामघाट से नयाघाट, सुग्रीव किला व श्रृंगारहाट से राममंदिर तक के मार्ग शामिल हैं. कंसल्टेंट एजेंसी ली एसोसिएट्स एवं ईवाई के विशेषज्ञ योजनाओं को तराशने में लगे हैं. अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह ने बताया कि धर्मार्थ कार्य विभाग से इन मार्गों का पुनर्विकास कराया जाएगा.
इन मार्गों को सुंदर बनाने के लिए लैंडस्केपिंग के साथ डिजाइनर लाइटें लगाई जाएंगी. बिजली के तार भूमिगत होंगे. सुग्रीव किला और श्रृंगारहाट से राममंदिर की ओर जाने वाला मार्ग नो-व्हीकिल जोन होगा. इस मार्ग पर श्रद्धालु पैदल ही यात्रा करेंगे. सिर्फ इमरजेंसी वाहनों को ही अनुमति प्रदान की जाएगी. सआदतगंज से नयाघाट और रामघाट से नयाघाट तक जाने वाले दोनों मार्गों पर वाहन के साथ लोग पैदल भी चल सकेंगे. नयाघाट पर एक चौराहा भी विकसित करने की योजना पर विचार चल रहा है.

%d bloggers like this: